July 30, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

सदन में खूब बरसे तेजस्वी, बोले- सिर्फ CM ही ऐसे हैं जिन्हें क, ख, ग, घ का पूरा ज्ञान है


Patna: बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने सदन में अपनी बात रखते हुए नीतीश सरकार (CM Nitish Kumar) की तमाम कमियों को गिनाया. उन्होंने कहा कि जब स्कूल कॉलेज में शिक्षक नहीं हैं तो बच्चे पढ़ेंगे कैसे. शिक्षा मंत्री अच्छे हैं लेकिन गलत जगह फंसे हुए हैं. कितना सरकार को बचाएंगे. 

तेजस्वी (Tejashwi Yadav) ने कहा कि प्रमुख 20 राज्यों में शिक्षा के स्तर के मामले में बिहार निचले पायदान पर है. देश के प्रमुख टॉप सौ विश्वविद्यालय में बिहार का एक भी विश्वविद्यालय नहीं है. 15 वर्षो में आपलोगों ने शिक्षा को लेकर कुछ नहीं किया है.

यह भी पढ़ें:- धान अधिप्राप्ति पर सदन में घमासान, तेजस्वी ने CM से की कृषि मंत्री को बर्खास्त करने की मांग

उन्होंने कहा कि पेपर लीक (Bihar Matric Paper Leak) हो रहा है. सरकार ठीक से परीक्षा संचालन भी नहीं करा पा रही है. कोई कार्रवाई नहीं की जाती है. जिन अक्षम अधिकारियों पर कार्यवाही होनी चाहिए उन्हें प्रोमोशन दिया जाता है. नीति आयोग (NITI Aayog) कह रही है कि बिहार में अस्सी फीसदी स्कूल बिना प्रधानाचार्य के चल रहे हैं.

वही, आरटीआई (RTI) से प्राप्त आंकड़े के अनुसार प्राथमिक विधायलय में स्वीकृत पद और माध्यमिक विद्यालय में स्वीकृत पद के आलोक में ढाई लाख से ज्यादा पद खाली हैं. 

यह भी पढ़ें:- NDA सरकार ने शिक्षा को बनाया मजाक, 2 पीढ़ियों को कर दिया बर्बाद: तेजस्वी यादव

तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने आगे लिखा कि इस सरकार में दवाई, पढ़ाई, सुनवाई, कार्रवाई, सिंचाई कुछ नहीं हो रहा है. कोरोना में बड़ी-बड़ी बातें कही गई, लेकिन भारी घोटाला किया गया है. इसी वजह से सर्वदलीय कमिटी नहीं बनाई गई है. कोरोना को लेकर घोटालों को पकड़ा जाएगा. मुख्यमंत्री कहते रह गए लेकिन कमिटी गठन कह कर भी नहीं किया है.

उन्होंने कहा कि कहीं जांच किट (Corona Testing Kit) गायब हो गए, कहीं रजिस्ट्रेशन में फर्जीवाड़ा किया गया, कहीं मोबाइल नंबर (Mobile Number) फर्जी डाल दिए गए. कोरोना को लेकर भारी फर्जीवाड़ा किया गया है. क्वारंटाइन सेंटर (Quarantine Center) में भी भारी घोटाला किया गया है. सवाल उठाते हैं तो कहते हैं कि मुझे क ख ग का ज्ञान नहीं है. सारा ज्ञान सिर्फ मुख्यमंत्री जी को है और किसी को कोई ज्ञान नहीं है.

यह भी पढ़ें:- ट्रैक्टर चलाकर विधानसभा पहुंचे तेजस्वी, कहा: पेट्रोल-डीजल दाम, 10वीं पेपर लीक पर सरकार को सांप सूंघ गया है

तेजस्वी (Tejashwi Yadav) ने कहा कि आप एक मैट्रिक का परीक्षा ठीक से नहीं करवा सकते तो सरकार कैसे चलाएंगे. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा मानकों के अनुसार बिहार आखरी पायदान पर है. कोरोना में आपने इतना ही अच्छा काम किया तो सरकार के मंत्री अधिकारी और उनका परिवार एम्स में क्यों भर्ती हुए. बिहार सरकार के हॉस्पिटल में क्यों नहीं इलाज करवाया.

उन्होंने कहा कि बिहार में 52 फीसदी गरीबी है. बेरोजगारी दर (Unemployment Rate) 46.6 फीसदी है, सिर्फ बात किया जा रहा है काम नहीं किया जा रहा है. क्या धरना प्रदर्शन करना हमारा संवैधानिक अधिकार नहीं है. चिह्नित जगह पर धरना प्रदर्शन करने पर सरकार लाठी डंडे चलवा रही है.





Source link

%d bloggers like this: