जीत पक्की करने के लिए इस प्रत्याशी ने चली तुरुप की चाल, देखिए तो इसका धांसू तरीका


रामपुर: यूपी पंचायत चुनाव (UP Panchayat Chunav 2021) को लेकर सुप्रीम कोर्ट से कल फैसला आना है. हालांकि इस बीच सभी जिलों की आरक्षण सूची जारी हो चुकी है. इसमें भी ज्यादा मात्रा में आपत्तियां भी हैं, ऐसे में यह भी संभव है कि फाइनल सूची में भी बदलाव हो. फिर वो बाद बातें हैं लेकिन इस बीच रामपुर के एक ग्राम प्रधान प्रत्याशी ने कमाल कर दिया है. उसने प्रधानी का चुनावी जीतने के लिए अनूठा प्रयोग किया है. उसके इस तरीके से उसकी जीत पक्की है. अगर उसे टिकट मिलती है तो लोगों को सपोर्ट करना ही पड़ेगा.

UP Panchayat Chunav 2021: आरक्षण को लेकर सुप्रीम कोर्ट में एक और याचिका दाखिल, जानिए कब होगी सुनवाई

रामपुर जिले के दो पूरी टांडा गांव में एक प्रत्याशी ने पंचायत चुनाव जीतने के लिए अपने पोस्टर लगाने शुरू भी कर दिए हैं. इस प्रत्याशी ने आपने पंचायत चुनाव उम्मीदवारी के पोस्टर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ फोटो लगाई है. इतना ही नहीं बीजेपी नेताओं के साथ ही उसने पोस्टर पर प्रियंका गांधी, राहुल गांधी और समाजवादी पार्टी से मुलायम सिंह यादव व अखिलेश यादव को भी जगह दी है. यहां तक बात समझ आती है, लेकिन इससे भी ज्यादा मजेदार बात यह है कि उसने अपने पोस्टर में बसपा सुप्रीमो मायावती और एआईआईएम के असदुद्दीन ओवैसी का भी फोटो लगाया है.

यूपी पंचायत चुनाव 2021: प्रत्याशी पर्चा दाखिल करने से पहले जान लें कोविड गाइडलाइंस, वरना नहीं मिलेगी एंट्री!

विरोधी बता रहे पॉलिटिकल स्टंट, प्रत्याशी कह रहा- सबका साथ, सबका विकास
इसके पीछे इस संभावित प्रत्याशी डॉ. मुईदुर्रहमान का कहना है कि मैं सबका साथ सबका विकास में विश्वास करता हूं और सभी पॉलिटिकल पार्टियों के प्रमुख मेरे आदर्श और गुरू हैं, जिस किसी की भी सरकार आएगी, वह मेरे गांव में विकास करेगा. ऐसे में इसलिए मैंने इन सभी राजनीतिक पार्टियों के प्रमुख के फोटो अपने पोस्टर पर लगाए हैं क्योंकि अभी तक गांव में कोई भी विकास नहीं हुआ है.

गिल्लू-गिरधारी की बकैती: आरक्षण की गणित में उलझे प्रधानी के प्रत्याशी, ऐसे मिला पूरा ज्ञान

ये दिया तर्क
इसी गांव में दूसरी तरफ प्रधान रहे और आगामी चुनाव में दावेदारी ठोक रहे प्रत्याशी का कहना है कि यह गलत है किसी एक का फोटो लगाना चाहिए और यह सुर्खियां बटोरने का एक तरीका है. जबकि प्रत्याशी मुईदुर्रहमान का तर्क है कि अभी तक किसी भी पॉलीटिकल पार्टी ने उसका विरोध नहीं किया है और उसके सोशल मीडिया पर सभी पार्टियां उसको लाइक कर रही हैं और प्रमोट कर रही हैं. 

गिल्लू-गिरधारी की बकैतीः ई कागज न मिले अलमारी में, तो न कूदो परधानी में

WATCH LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *