Khatu Shyam : श्याम के रंग में रंगी खाटू नगरी, उमड़ी आस्था की भीड़


Sikar : खाटू श्याम बाबा (Khatu Shyam) का वार्षिक लक्खी मेला पूरे परवान पर है. जिधर देखो बाबा श्याम के दीवाने हाथों में निशान लेकर खाटू धाम पहंच रहे हैं. खाटू नगरी श्याम के रंग में रंगी हुई नजर आ रही है और श्याम भक्त हाथों में निशान लेकर हारे का सहारा बाबा श्याम हमारा, तीन बाण धारी की जय और बोलो श्याम बाबा की जय के जयकारों से आकाश को गुंजायमान करते हुए खाटूधाम पहुंच रहे हैं. 

यह भी पढ़ें- Sikar बाबा श्याम के वार्षिक मेले में Covid-19 Negative Report का बड़ा खेल, 5 दुकानों पर मारे छापे

फाल्गुन का महीना है. वार्षिक लक्खी मेले (Lakkhi fair) का मौका है और बाबा श्याम के रंग में सराबोर है खाटू श्याम की नगरी हर साल की तरह इस बार भी खाटू श्याम की नगरी में आस्था की भीड़ उमड़ी है और श्रद्धा का मेला लगा है. देश के कोने-कोने से श्याम भक्तों का जमावड़ा लगा है. एकादशी के मौके पर श्याम की नगरी में एक अलौकिक आकर्षण का वातावरण है. जहां भक्त अपनी मुराद लेकर पहुंचे हैं. 

10 दिन चलने वाले लक्खी मेले के आयोजन में कोविड 19 की गाइडलाइन (Covid Guideline) की पालना के लिए तमाम एहतियाती कदम उठाए गए हैं. इस बार खाटू श्याम के सालाना लक्खी मेले का आयोजन थोड़ा जुदा है. कोविड 19 के प्रोटोकॉल के तहत श्रद्धालुओं को मंदिर परिसर में जाने की इजाजत है. मंदिर और जिला प्रशासन हर कदम पर कोविड गाइड लाइन की पालना के लिए तत्पर और मुस्तैद है.

एकादशी के दिन खाटू श्यामजी (Khatu Shyam Darshan) के दर्शन लाभ के लिए श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ जाता है. भक्तों की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए जिगजैग बनाए गए हैं. किसी भी श्रद्धालु को असुविधा ना हो इसके लिए रास्त में जगह-जगह पानी के इंतजाम किए गए हैं. बिस्किट और मधुर पेयजल की भी व्यवस्था है. माहौल को भक्तिमय और संगीतमय बनाने के लिए श्याम भक्ति की धुन बजाई जा रही है. सुगंधित इत्र के फव्वारे लगाए गए हैं.
  
मेले में कानून व्यवस्था कायम रहे और श्रद्धालुओं को कोई परेशानी ना हो इसके लिए तीन हजार पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है. किसी भक्त को स्वास्थ्य संबंधित दिक्कत ना हो इसके लिए मेडिकल टीम को लगाया गया है. जिला प्रशासन के सहयोग से मंदिर प्रशासन ने बाबा श्याम के दर्शन के लिए आने वाले भक्तों के लिए हर सुविधा के इंतजामात किए हैं. ताकि हर भक्त एक सुखद अनुभव लेकर, बाबा श्याम के दरबार में फिर आने का वादा करके लौटे.

यह भी पढ़ें : Sikar: खाटू श्याम जी दर्शन को आए श्याम श्रद्धालु ने लगाई फांसी, मचा हड़कंप



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *