अयोध्या के राम मंदिर में श्रद्धालुओं को नहीं मिलेगा प्रसाद, ट्रस्ट ने लगाया प्रतिबंध, जानें वजह


मनमीत गुप्ता/अयोध्या: राम जन्मभूमि रामलला के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को अब प्रसाद और चरणामृत नहीं दिया जाएगा. हालांकि, यह रोक आने वाले कुछ समय के लिए है. श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट (Ram Janambhoomi Trust) ने शुक्रवार को यह फैसला लिया है. ट्रस्ट ने बताया कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव से श्रद्धालुओं को बचाने के लिए यह कदम उठाया है.  

पहले प्रसाद नहीं ले जा सकते थे भक्त   
दरअसल, इन दिनों राम जन्मभूमि रामलला के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है. देश के कोने-कोने से श्रद्धालु अयोध्या पहुंचकर रामलला के दर्शन कर रहे हैं. ऐसे में संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है. इसको देखते हुए राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने कुछ समय के लिए प्रसाद और चरणोदय वितरण पर रोक लगाया है. हालांकि, राम मंदिर में दर्शन करने वाले श्रद्धालु पहले से ही रामलला के लिए प्रसाद नहीं ले जा सकते थे. 

ये भी पढ़ें- रहें सावधान! अब UP में भी तेजी से फैल रहा है कोरोना वायरस, यह हैं टॉप-10 जिले

प्रसाद वितरण के लिए लागू होगी नई व्यवस्था 
राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट प्रसाद वितरण के लिए एक नई व्यवस्था लागू करने पर विचार कर रहा है. जिससे संक्रमण भी रुक सके और भक्तों को प्रसाद भी मिल सके. ट्रस्ट के ट्रस्टी डॉ. अनिल मिश्र का कहना है ट्रस्ट जल्द एक ऐसी व्यवस्था लागू करने जा रहा है, जिसमें एक छोटे पैकेट में सुरक्षित तरीके से प्रसाद का वितरण किया जा सके. जिससे रामलला के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालु रामलला के प्रसाद को प्राप्त कर सके. 

ये भी पढ़ें- Holi 2021: ठंडाई पीने के ये अमेजिंग फायदे नहीं जानते होंगे आप?

लेकिन फिलहाल अभी राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने रामलला के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को प्रसाद और चरणामृत वितरण पर रोक लगा दिया है. लेकिन यह व्यवस्था अस्थायी है, स्थायी नहीं. जैसे ही कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण होगा फिर से प्रसाद वितरण की व्यवस्था शुरू हो जाएगी. 

ये भी देखें- गाय के बाद अब भेड़ ने बिखेरा सड़क पर जलवा, Catwalk देख मॉडल्स भी रह जाएंगी हैरान!

ये भी देखें- प्रयागराज में सड़क पर भिड़ गईं दो लड़कियां, एक दूसरे के नोचे बाल और चलाए लात-घूंसे

WATCH LIVE TV

 



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *