July 31, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

Bending Glass Bridge को देखकर भ्रम में पर्यटक, सोशल मीडिया यूजर्स ने बताया ‘फर्जी’


जेजियांग: चीन (China) के एक अनोखे बेंडिंग ग्लास ब्रिज (Bending Glass Bridge) की दुनियाभर में चर्चा है. हाल में जनता के लिए खुले इस बेंडिंग ग्लास ब्रिज की लंबाई 100 मीटर (328 फीट) है. इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही हैं. 

बनावट से भ्रम में लोग

चीन के जेजियांग प्रांत (Zhejiang Province) में स्थित यह रूई ग्लास ब्रिज (Ruyi glass bridge) जमीन से 140 मीटर (459 फीट) ऊंचा है. इसकी खास बनावट की वजह से इसे ‘बेंडिंग’ ब्रिज (Bending Glass Bridge) नाम दिया गया है. इसकी अनोखी बनावट लोगों को भ्रम में डाल रही है. लोगों को विश्वास ही नहीं हो रहा कि यह असली है. कुछ सोशल मीडिया यूजर्स ने इसे ‘फर्जी’ बताया है. कुछ लोगों का कहना है कि इस पर विश्वास करना मुश्किल है.

पर्यटकों के बीच आकर्षण का केंद्र

2020 में खुलने से पहले, 2017 में पहली बार जेजियांग प्रांत में ग्लास ब्रिज (Glass Bridge) खोला गया था. लोग भले ही इसे फर्जी बता रहे हों, यकीन नहीं कर पा रहे हों लेकिन तब से लेकर अब तक 200,000 से अधिक लोग इस ब्रिज से गुजर चुके हैं. अपनी खास बनावट के कारण पर्यटकों के लिए यह ब्रिज आकर्षण का केंद्र बन गया है. यह ब्रिज दो पहाड़ों के बीच स्थित है. पुल की डिजाइन एक जेड रूई से प्रेरित है.

सबसे ऊंचा और लंबा पुल

इसकी बनावट घुमावदार है, जो चीन (China) में सौभाग्य के प्रतीक के रूप में मानी जाती है. यह तीन बेंडिंग ब्रिज को जोड़कर बनाया गया है. यहां जा चुके एक पर्यटक ने कहा, ‘यहां पूरी तरह से फेयरी हाउस के प्राकृतिक दृश्य दिखते हैं, जैसे आकाश में जेड रूई और रेशम से लिपटी हुई परी.’ चीन का यह पुल दुनिया का सबसे लंबा और सबसे ऊंचा पुल है.

यह भी पढ़ें: केंद्र बातचीत के लिए तैयार, किसान संगठन चाहें तो Farmers Protest खत्म हो सकता है: Narendra Singh Tomar

इजराइली डिजाइनर ने किया डिजाइन

इस ब्रिज को इजराइली वास्तुकार हैम दोतन द्वारा डिजाइन किया गया है. यहां लोग बंजी जंप करने या जिप लाइन की सवारी करने भी आते हैं. कुछ इसी तरह का पुल पुर्तगाल में पिछले साल खोला गया. इससे पहले 2018 में, चीन ने हांगकांग से मकाऊ तक 34 मील लंबा एक 15bn पुल खोला था- जो अब तक का सबसे लंबा समुद्री-क्रॉस ब्रिज है.

LIVE TV





Source link

%d bloggers like this: