July 25, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

महाराष्ट्र: Lockdown के पक्ष में नहीं है BJP, चंद्रकांत पाटिल ने उद्धव ठाकरे पर कसा तंज


मुंबई: कोरोना संक्रमण के मामलों में महाराष्ट्र नंबर वन है. महाराष्ट्र सरकार कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते प्रसार को थामने के लिए लॉकडाउन की संभावनाएं टटोल रही है, लेकिन बीजेपी ने राज्य में लॉकडाउन का विरोध किया है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि महाराष्ट्र या किसी भी राज्य में लॉकडाउन लगाना कोरोना रोकने का हल नहीं है, बल्कि सरकार को 3टी पर ध्यान देने की जरूरत है. उन्होंने मुंबई में नाइट कर्फ्यू का समर्थन तो किया, साथ ही इसके लिए भी शिवसेना पर इशारों इशारों पर जोरदार तंज कसा. 

चंद्रकांत पाटिल ने क्या कहा?

महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि सिर्फ बीजेपी ही नहीं, बल्कि सभी व्यापारी, कामगार खासकर असंगठित क्षेत्र के मजदूर लॉकडाउन के पक्ष में नहीं है. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन लगाने से कोरोना के प्रसार को राज्य में रोका नहीं जा सकता है. आप लॉकडाउन लगा देंगे, लेकिन लोगों का क्या होगा? आप ‘मातोश्री’ में बैठे रहे और ये नहीं देखा कि लोग किस तरह से जी रहे हैं. बता दें कि ‘मातोश्री’ बांद्रा इलाके में है और ठाकरे परिवार का घर है.

नाइट कर्फ्यू से परेशानी नहीं

चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि उन्हें नाइट कर्फ्यू से दिक्कत नहीं है. लेकिन दिन के सामान्य कामकाज को बंद नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा कि लोग रात में वैसे ही बाहर नहीं निलकते. हां, आपकी सरकार के कुछ लोगों को छोड़कर, जो नाइट लाइफ पसंद करते हैं. उनका इशारा महाराष्ट्र सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे की तरफ था, जो मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे हैं. 

लॉकडाउन लगाना चाहते हैं, तो करें ये काम

चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि अगर आप (सरकार) वाकई लॉकडाउन लगाना चाहते हैं, तो बेशक लगाएं. लेकिन इसके लिए एक पैकेज की घोषणा करिए. और असंगठित क्षेत्र के सभी मजदूरों को 5000 रुपए महीने का भत्ता दीजिए. उन्होंने कहा कि सरकार को 3टी यानि टेस्टिंग, ट्रेसिंग और ट्रीटमेंट पर ध्यान देना चाहिए. 

ये भी पढ़ें: गोवा कांग्रेस में बगावत, सांसद ने कहा-बदल डालो अध्यक्ष; वर्ना पछताना पड़ेगा

महाराष्ट्र में आ रहे सबसे ज्यादा मामले

देश में महाराष्ट्र राज्य कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित राज्य है. महाराष्ट्र में अबतक कोरोना का कुल आंकड़ा 27 लाख 45 हजार 518 तक जा पहुंचा है और मरने वालों की संख्या 54 हजार 283 हो गई है.





Source link

%d bloggers like this: