बेंगलुरु इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर कैब ड्राइवर ने की आत्महत्या, टैक्सी सेवा ठप


बेंगलुरु: बेंगलुरु के केम्पेगौड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Kempegowda International Airport) पर टैक्सी सर्विस बुधवार को बाधित रही. दरअसल, एयरपोर्ट कैब ड्राइवर ने कथित तौर पर खुद को आग लगा ली थी उसकी मंगलवार रात मौत हो गई. इसके विरोध में बुधवार को टैक्सी ड्राइवरों ने टैक्सी नहीं चलाई. 

टैक्सी ड्राइवर ने खुद को लगाई आग

कर्नाटक राज्य पर्यटन विकास निगम (Karnataka State Tourism Development Corporation) की एयरपोर्ट टैक्सी सर्विस (Airport Taxi Service) में काम करने वाले एक ड्राइवर ने मंगलवार को कथित तौर पर अपनी कैब के अंदर ही खुद को आग लगा ली थी. 34 वर्षीय ड्राइवर का नाम प्रताप था और वह रामनगर का निवासी था. 

पुलिस सूत्रों के अनुसार प्रताप वित्तीय संकट से जूझ रहा था जिससे वह डिप्रेशन में था. उन्होंने बताया कि पुलिस घटना के वास्तविक कारणों की जांच कर रही है. उन्होंने कहा कि एयरपोर्ट रेस्क्यू टीम ने प्रताप को अस्पताल पहुंचाया लेकिन आधी रात को उसने दम तोड़ दिया.

ये भी पढ़ें- सावधान! रेलवे ने दी चेतावनी, रेल सफर के दौरान न करें ये गलती वर्ना 3 साल तक की होगी जेल

वित्तीय संकट से जूझ रहा था ड्राइवर

एयरपोर्ट टैक्सी ड्राइवरों के अनुसार, प्रताप की माली हालत अच्छी नहीं थी और वह कर्ज चुकाने में समर्थ नहीं था इसलिए उसने ऐसा कदम उठाया. उन्होंने कहा कि ओला, उबर, केएसडीटीसी और अन्य टैक्सी सेवाओं से जुड़े ज्यादातर टैक्सी चालकों ने प्रताप की मौत को लेकर रोष है. इसके विरोध में उन्होंने बुधवार को टैक्सी नहीं चलाई. 

यात्रियों के लिए एडवायजरी जारी

केम्पेगौड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की ओर से यात्रियों को जारी एक एडवायजरी में कहा गया कि एयरपोर्ट पर टैक्सी सेवा प्रभावित हुई है. यात्रियों से अनुरोध है कि वे बेंगलुरु महानगर परिवहन निगम (Bengaluru Mahanagar Transport Corporation) की बसों का इस्तेमाल करें या अपने वाहन का प्रयोग करें.

इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) ने सिलसिलेवार ट्वीट कर आरोप लगाया कि कैब उद्योग में कीमतों को लेकर मारामारी और सरकार की संवेदनहीनता के कारण प्रताप की मौत हुई. 

(इनपुट भाषा से)



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *