काम की खबर : आज से Rajasthan में व्यापारियों को मिली ये बड़ी राहत


Jaipur : राजस्थान (Rajasthan News) के उद्यमियों, कारोबारियों और दुकानदारों के लिए राहत की खबर है. राजस्थान उन राज्यों की सूची में शामिल हो गया है, जहां वस्तु और माल परिवहन के लिए 1 लाख रुपए तक की सीमा के लिए ईवे बिल (E Way Bill) की जरुरत नहीं है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने इसकी घोषणा बजट (Rajasthan Budget) में की थी. 1 अप्रैल से मुख्‍य आयुक्‍त राज्‍य कर की अधिसूचना के जरिए यह प्रभावी हो गई है. 

यह भी पढ़ें : Rajasthan Budget 2021: जानिए CM गहलोत के बजट से जुड़ी सभी बड़ी बातें

अब राज्य की सीमा के अंदर माल परिवहन हेतु ई-वे बिल (E Way Bill in Rajasthan) जारी करने की अनिवार्यता की सीमा को 50 हजार रूपये से बढ़ाकर एक लाख रूपये कर दी गई है. हालांकि आमजन के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालने वाले सभी प्रकार के तम्बाकू उत्पाद, बीडी, सिगरेट, पान मसाला आदि को इस छूट का लाभ नहीं दिया जायेगा. कारोबारियों ने इस पर खुशी जाहिर की है.

क्या होता है ई-वे बिल 
राज्यों के बीच 50,000 रुपये से अधिक के सामान की आवाजाही के लिए अब ई-वे बिल (E-Way Bill limit in Rajasthan) को अनिवार्य है. यह जीएसटी एक्ट (GST Act) की धारा 68 के तहत अनिवार्य है. केन्द्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड की ओर से जारी सर्कुलर की पालना करना कारोबारी फर्मों के लिए आवश्यक है. 

ई-वे बिल (E-Way Bill Provision in Rajasthan) को ईवे बिल के आधिकारिक पोर्टल से जेनरेट किया जा सकता है. इसमें कोई भी पंजीकृत व्यक्ति या फिर ट्रांसपोर्टर्स जो कि अपने सामान को एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेज सकता है, वो इसे जेनरेट करवा सकता है. 

यह भी पढ़ें : Rajasthan Budget 2021 में होगा बचत का फॉर्मूला! गहलोत सरकार से लोगों ने की यह मांग



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *