ED के ताबड़तोड़ एक्शन, पुराने मामलों की फाइलों को अंजाम तक पहुंचाने की तैयारी


Jaipur : प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) की राजस्थान ईकाई इन दिनों में जबरदस्त एक्शन में है. आज एक साथ तीन बड़े मामलों में कार्रवाई कर ईडी पुराने मामलों की फाइलों को अंजाम तक पहुंचाने की तैयारी में है. ईडी ने 14.25 टन लाल चंदन तस्करी मामले में   आपराधिक परिवाद दर्ज किया है. बाड़मेर में क्रूड ऑयल चोरी आरोपी भूर सिंह राजपुरोहित की संपत्ति अटैच की है. साथ ही जोधपुर शराब दुखांतिका मामले में इंदौर के अमनदीप सिंह भुल्लर के खिलाफ अभियोजन परिवाद पेश किया है.

यह भी पढ़ें: Rajasthan News : मल्टीस्टेट सोसायटीज की लूट पर सख्त सरकार, केंद्र को पत्र लिखकर मांगी डिटेल

प्रवर्ततन निदेशालय की राजस्थान ईकाई इन दिनों बड़े एक्शन में है. प्रवर्तन निदेशालय ने लाल चंदन तस्करी मामले (Laal chandan smuggling case) में आपराधिक परिवाद दर्ज किया है. आरोपी अनिल गडोडिया, यूरो एक्सपोर्ट के रामेश्चर शर्मा, थाईलैंड निवासी सहआरोपी योडिंग और मयूर रंजन का नाम परिवाद में शामिल है. डीआरआई (DRI) ने मार्बल की आड़ में लाल चंदन की तस्करी उजागर की थी. डीआरआई ने 14.25 टन लाल चंदन मुंदड़ा पोर्ट से जब्त किए थे. 94 टन मार्बल स्लैब में छुपाकर आरोपी चंदन तस्करी कर रहे थे. 

प्रकरण में ईडी (ED) जब्त दस्तावेजों के आधार अब तक 1.44 करोड़ की संपत्ति अटैच कर चुकी है. वहीं, दूसरे मामले में बाड़मेर में क्रूड ऑयल चोरी प्रकरण में मुख्य आरोपी भूर सिंह राजपुरोहित की संपत्ति अटैच की गई है. ईडी ने कुल 57.30 लाख रुपये की चल अचल संपत्ति को अटैच किया है. इनमें 20 बीघा कृषि भूमि, 2 भूखंड, 1 आवासीय भवन सहित चार बैंक खातों में मौजूद 22 लाख रुपए का प्रोवेजनली अटैचमेंट शामिल है. तीसरी कार्रवाई जोधपुर शराब दुखांतिका मामले से जुड़ी है. इसमें 22 व्यक्तियों की मौत के मामले में परिवाद पेश किया गया है. 

इंदौर के अमनदीप सिंह भुल्लर के खिलाफ अभियोजन परिवाद पेश किया है. वर्ष 2011 में नकली शराब से 22 लोगों की मौत हुई थी, इसमें जांच में सामने आया था की आरोपी अवैध स्प्रीट के लिए भुगतान हवाला के जरिए कर रहे हैं. मामले में अभियुक्त कालू राम विश्नोई की संपत्ति पहले से अटैच है। 1 करोड़ 32 लाख रुपये की संपत्ति अटैच कर अभियोजन परिवाद पेश किया है. ईडी अब अन्य मामलों में भी कड़ी कार्रवाई करने की तैयारी में है.

यह भी पढ़ें : 16 हजार करोड़ लूटने वाली मल्टीस्टेट सोसायटीज पर राज्य सरकार का शिकंजा



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *