Johnson & Johnson Corona Vaccine की 15 मिलियन डोज बर्बाद, Company ने गुणवत्ता मानकों का दिया हवाला


वॉशिंगटन: ऐसे समय में जब दुनिया के तमाम देश कोरोना वैक्सीन के लिए संघर्ष कर रहे हैं, अमेरिका की एक फैक्ट्री में जॉनसन एंड जॉनसन (Johnson & Johnson) वैक्सीन की 15 मिलियन डोज बर्बाद हो गई हैं. इस सिंगल शॉट वैक्सीन का निर्माण करने वाली फार्मास्युटिकल कंपनी का दावा है कि अधिकारियों को इमर्जेंट बायोसोल्यूशंस (Emergent BioSolutions) द्वारा संचालित बाल्टीमोर प्लांट में वैक्सीन का एक बैच मिला, जो गुणवत्ता मानकों को पूरा नहीं करता था. जिसके बाद उसे नष्ट कर दिया गया. 

इस Question का नहीं है Answer

हमारी सहयोगी वेबसाइट WION में छपी खबर के अनुसार, कंपनी का दावा है कि वैक्सीन का बैच (Batch) उसकी विनिर्माण प्रक्रिया के अनुरूप नहीं था. हालांकि, कंपनी ने प्रभावित खुराक की संख्या की पुष्टि नहीं की है और इसका सटीक कारण भी नहीं बताया है कि वह गुणवत्ता मानकों को पूरा क्यों नहीं कर पाई. फिर भी मोटे तौर पर माना जा रहा है कि वैक्सीन की करीब 15 मिलियन डोज बर्बाद हो गई हैं.

ये भी पढ़ें -Brazil ने भारत की स्वदेशी वैक्सीन लेने से किया इनकार, मैन्युफैक्चरिंग मानकों पर उठाए सवाल

Company ने बताया जरूरी कदम

वहीं, यूएस FDA का कहना है कि वो स्थिति से अवगत है और फार्मा कंपनी के अनुसार यह एक आवश्यक कदम था, क्योंकि गुणवत्ता और सुरक्षा उसकी सर्वोच्च प्राथमिकता है. इस बीच, जॉनसन एंड जॉनसन ने कोरोना वैक्सीन की निर्माण प्रक्रिया की देखरेख करने और आवश्यक समर्थन मुहैया कराने के लिए विशेषज्ञों की एक टीम को साइट पर भेजने का फैसला लिया है.

Target पूरा करने की उम्मीद

इतने बड़े पैमाने पर वैक्सीन बर्बाद होना कंपनी के प्रोडक्शन रेट के लिए झटका है. हालांकि, कंपनी को उम्मीद है कि वो इस वर्ष के अंत तक तक अपने निर्धारित लक्ष्य को पूरा कर लेगी. जॉनसन एंड जॉनसन की तरफ से जारी बयान में कहा गया है, ‘हम 2021 के अंत तक एक अरब से अधिक खुराक विकसित करने के अपने लक्ष्य को पूरा कर लेंगे’. 

 



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *