Pali Khabar: प्रसाद खिलाकर बर्बाद कर दी युवती की ज़िंदगी, Kidnapping के बाद किया Rape


Pali: देसूरी थाना क्षेत्र (Desuri Thana Area) के नारलाई की एक युवती ने इस्तगासा के जरिये मामला दर्ज कर बताया कि उसका अपहरण (Kidnap) कर अलग-अलग जगहों पर रख कर उसके साथ दुष्कर्म (Rape) किया गया और गहने भी छीन लिए गए.

यह भी पढ़ें- Barmer Samachar: लिफ्ट देने के बहाने महिला से Gangrape, 3 के खिलाफ केस दर्ज

पुलिस को विवाहिता ने बताया कि 22 सितम्बर 20 को वह अपने पिता के घर पर कार्य कर रही थी. इसी दौरान घाणेराव निवासी अमराराम जणवा चौधरी और हसु घांची गाड़ी लेकर मेरे घर आये और मुझे देवता का प्रसाद बताकर कुछ खाने को दिया. प्रसाद खाते ही में अचेत हो गई. वे मुझे गाड़ी में डालकर ले गये. मुझे होश आया तो मैं एक कमरे में थी. मैंने पूछा तो अमराराम ने बताया कि तुम उदयपुर (Udaipur) में हो और चिल्लाने की कोशिश की तो तुम्हे और तुम्हारे पिता का मर्डर कर देंगे. इसके बाद हसु घांची को बाहर पहरे पर बिठाया और अमराराम ने मुझे धमकाकर मेरी इच्छा के विरुद्ध मेरे साथ दुष्कर्म किया. बाद में मुझे दोनों ने उदयपुर की कचहरी ले गये और वहां पर खाली कागजात पर दस्तख्त करवा कर धमकाकर केरला ले गये, जहां पर मुझे बन्दी बनाकर अमराराम मेरे साथ गलत काम करता रहा.

यह भी पढ़ें- थाने में CI के सामने बैठा था परिवादी, अचानक हुई मौत, मच गया हड़कंप

 

पिता और परिवार को दी जान से मारने की धमकी
हसु घांची देसूरी पुलिस से बात कर मुझे अमराराम के घर घाणेराव ले आये. घर के एक कमरे में मुझे बन्दी बनाकर अमराराम और उसके परिवार के लोगों ने  मेरे पहने हुए सोने चांदी के गहने उतरवा कर ले लिये और मुझे धमकी देते हुए बोले कि हमने देसूरी पुलिस को सेट कर दिया है. वो जैसा बोलें, वैसा ही बोलना वरना बाहर से गुंडे बुलवाकर तेरा और तेरे पिता का मर्डर करवा देंगे. ऐसा कहकर मुझे देसूरी थाने लाया गया, जहां पर पुलिस ने मेरा कोई बयान नहीं लिया बल्कि खाली पेपर पर मेरे साइन करवा कर अमराराम के साथ वापस उसके घर घाणेराव भेज दिया और न ही मुझे मेरे पिता से भी मिलने दिया गया. 

पुलिस ने शुरू कर दी जांच
अमराराम अपने घर घाणेराव में कई दिनों तक बन्दी बनाकर रखा और मेरे साथ गलत काम करता रहा. इसी दौरान 26 फरवरी 2021 को मैंने मौका देखकर इनके चुंगल निकलकर मेरे पिता के घर आकर सारी घटना मेरे परिवार को बताई और पुलिस मामला दर्ज करवाया. इसके बाद भी कोई कार्यवाही नही होने और मुझे अमराराम द्वारा लगातार धमकियां मिलने और व्हाटशॉप धमकियों और गलत मैसेज डालने से परेशान होकर जिला पुलिस अधीक्षक पाली को पत्र देकर आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की. उसका कहना है कि मुझे और मेरे परिवार के लोगों की जान का खतरा बना हुआ है. देसूरी पुलिस ने अपराध की धारा 366,376 व 342 में मामला दर्ज कर जांच शुरू की. 

Reporter- Subhash Rohishwal



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *