July 25, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

BJP नेता की गाड़ी में EVM मिलने से Assam में मचा घमासान, Amit Shah ने की जांच की मांग


नई दिल्ली: BJP प्रत्याशी की पत्नी के नाम रजिस्ट्रड गाड़ी में EVM ले जाने के मामले ने अब तूल पकड़ लिया है. केंद्रीय मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने भी शुक्रवार को चुनाव आयोग (Election Commission) से मामले की जांच कराने की मांग की. जिसके बाद आयोग ने कार्रवाई करते हुए संबंधित मतदान केंद्र के पीठासीन अधिकारी और तीन अन्य अधिकारियों को निलंबित कर दिया है.

मीडिया हाऊस को दिए एक इंटरव्यू में शाह ने कहा, ‘निर्वाचन आयोग को असम में भाजपा प्रत्याशी की कार में ईवीएम मिलने के मामले की जांच करनी चाहिए और जो भी जिम्मेदार पाया जाए उसके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए.’

बूथ पर दोबारा होगी वोटिंग

गौरतलब है कि असम के करीमगंज जिले में गुरुवार रात को उस समय हिंसा की घटना हुई जब भीड़ ने भाजपा प्रत्याशी की कार का इस्तेमाल मतदान के बाद ईवीएम को स्ट्रांग रूप पहुंचाने के लिए होते देखा. उस दौरान हालात इतने बिगड़ गए कि स्थिति को काबू में करने के लिए पुलिस को हवा में गोली चलानी पड़ी. हालांकि सुबह होते-होते इस घटना ने बड़े विवाद का रूप ले लिया, और विपक्षी कांग्रेस और UIUDF ने ईवीएम की चोरी होने का आरोप लगाया. इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया जिसके बाद आयोग ने मतदान केंद्र के चार अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया और संबंधित बूथ पर दोबारा मतदान कराने का आदेश दिया.

ये भी पढ़ें:- महाराष्ट्र में जल्द लग सकता है संपूर्ण लॉकडाउन, CM ठाकरे ने दिए संकेत

क्या है पूरा मामला?

अधिकारी ने बताया कि रतबाड़ी विधान सभा सीट के मतदान केंद्र संख्या 149 इंदिरा एमवी स्कूल पर तैनात मतदान दल में पीठासीन अधिकारी और तीन अन्य कर्मी मतदान कराने के बाद ईवीएम जमा कराने करीमगंज आ रहे थे, तभी उनकी गाड़ी खराब हो गई. जिसके बाद टीम ने प्राइवेट कार से लिफ्ट ली, लेकिन संयोग से वह गाड़ी पाथरकांडी से भाजपा के मौजूदा विधायक कृष्णेंदु पॉल की पत्नी के नाम से रजिस्ट्रड थी. जब गाड़ी नीमल बाजार इलाके में पहुंची तो भीड़ ने उनपर हमला कर दिया. हमलावरों में अधिकतर AIUDF और कांग्रेस समर्थक थे, जिन्होंने दावा किया कि EVM भाजपा प्रत्याशी के वाहन में छेड़छाड़ करने के इरादे से ले जाया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:- अब अभिनव कोहली का श्वेता तिवारी पर पलटवार, कहा- पिटाई तो मेरी होती थी

EVM छोड़ भाग गए अधिकारी

चश्मदीदों के अनुसार, कुछ ही मिनटों में वहां करीब 100 लोगों की भीड़ जमा हो गई और उन्होंने गाड़ी में तोड़फोड़ करने के साथ अधिकारियों से बदसलूकी करने की कोशिश की, जिससे डरे मतदन कर्मी EVM मशीन गाड़ी में ही छोड़ भाग गए. पुलिस सूत्रों ने बताया, ‘हमले की खबर पर एसपी और डीएसपी तुरंत मौके पर पहुंचे और भीड़ को शांत कराने की कोशिश की, लेकिन भीड़ सुनने को तैयार नहीं हुई और उन्हें तितर-बितर करने के लिए पुलिस को हवा में गोली चलानी पड़ी.’

LIVE TV





Source link

%d bloggers like this: