July 25, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

महाराष्‍ट्र: पाबंदियों के दौरान शराब, बिजली की दुकानें खुलेंगी? ऐसे सवालों का जानें जवाब


मुंबई: महाराष्ट्र में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. जिसे देखते ही सरकार ने नाइट कर्फ्यू और वीकेंड लॉकडाउन का फैसला लिया है. इस दौरान काफी लोग नियमों की जानकारी न होने के चलते परेशान भी दिख रहे हैं. क्योंकि सड़कों पर पुलिस मौजूद रहे है और नियमों का उल्लंघन करने वालों का चालान भी काट रही है. लोगों की समस्याओं को देखते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री कार्यालय ने लोगों को जागरुक करने की कोशिश की है. इस दौरान सीएमओ ने लोगों द्वारा जो सवाल पूछे जा सकते हैं, उनके जवाब देने की कोशिश की है. आप भी पढ़ें, सवाल और उनके जवाब…

सवाल: क्या सुपरमार्केट/मॉल जैसे डी मार्ट, बिग बाजार, रिलायंस खुले रहेंगे?

जवाब: महाराष्ट्र सरकार के 4-5 अप्रैल को जारी आदेश के मुताबिक आवश्यक वस्तुओं की सेवा के लिए ये खुले रहेंगे. गैर-आवश्यक सामानों की बिक्री नहीं होगी. इनके खुलने का समय सुबह 7 बजे से रात 8 बजे तक का होगा. इन सभी जगहों पर कोविड-19 गाइडलाइंस का पालन अनिवार्य है. जिन जगहों पर गाइडलाइंस का पालन नहीं किया जाएगा, उस प्रतिष्ठान को बंद करा दिया जाएगा. 

सवाल: वीकेंड लॉकडाउन के दौरान कौन सी गतिविधियां जारी रहेंगी, कौन सी बंद?

जवाब: सभी आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी. बाकी सभी प्रतिष्ठान बंद रहेंगे. बिना वजह कोई बाहर नहीं निकल सकता. आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति में लगे लोगों को भी बिना वजह बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी.

सवाल: क्या एपीएमसी मार्केट वीकेंड लॉकडाउन के दौरान खुले रहेंगे?

जवाब: ये कोरोना संक्रमण की स्थिति पर निर्भर करता है. अगर संक्रमण ज्यादा हुआ, तो स्थानीय प्रशासन राज्य सरकार की अनुमति लेकर एपीएमसी मार्केट भी बंद करा सकता है. एपीएमसी मार्केट पर स्थानीय प्रशासन कड़ी नजर रखेगा, ताकी कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके. ऐसे सभी मार्केट्स में कोरोना संक्रमण रोकने के सारे उपाय करने जरूरी हैं. 

सवाल: क्या कंस्ट्रक्शन के काम से जुड़ी दुकानें खुली रहेंगी?

जवाब: बिल्कुल नहीं.

सवाल: गैराज सर्विस खुली रहेगी? क्योंकि परिवहन के साधन सड़क पर दौड़ेंगे, तो उन्हें इसकी जरूरत पड़ेगी.

जवाब: सिर्फ गैराज सर्विस खुलेंगी. इन पर स्थानीय प्रशासन की नजर रहेगी. स्पेयर पार्ट बेचने वाली दुकानें बंद रहेंगी. 

सवाल: क्या केंद्र सरकार के कर्मचारी, पीएसयू के कर्मचारी आवश्यक सेवा के दायरे में आएंगे, क्या उन्हें छूट मिलेगी?

जवाब: नहीं. सभी कर्मचारियों को छूट नहीं होगी. सिर्फ उन्हीं कर्मचारियों को छूट होगी, जो आवश्यक सेवाओं के तहत आते हैं. 

सवाल: क्या आम नागरिक शराब खरीद सकेंगे?

जवाब: जी हां, 4 अप्रैल को जारी नियम के मुताबिक बार से शराब खरीदी जा सकेगी. वहां से घर ले जा सकते हैं. बार में बैठने की सुविधा नहीं होगी. रेस्टोरेंट और बार के खुलने का जो समय निर्धारित है, उसका पालन होगा. हालांकि एक्साइज डिपार्टमेंट के नियमों का भी पालन अनिवार्य है. 

सवाल: क्या शराब की दुकानें खुलेंगी/उनकी होम डिलीवरी होगी?

जवाब: नहीं.

सवाल: क्या सड़कों के किनारे स्थित ढाबे खुले रहेंगे?

जवाब: जी हां, लेकिन सिर्फ ऑर्डर लेकर जा सकेंगे. बैठने की अनुमति नहीं होगी. 

सवाल: इलेक्ट्रॉनिक सामान जैसे एसी, टीवी, फ्रिज, वॉशिंग मशीन से जुड़ी दुकानें खुली रहेंगी?

जवाब: नहीं.

सवाल: टेली-कम्यूनिकेशन जैसे लैपटॉप, मोबाइल से जुड़ी दुकानें खुली रहेंगी?

जवाब: नहीं.

सवाल: क्या आपल सरकार सेवा केंद्र/सेतु सीटीसी सेंटर खुले रहेंगे? चूंकि इनसे सरकार से जुड़ी तमाम सेवाओं का लाभ मिलता है, जिसमें आवश्यक सेवाएं भी शामिल हैं. 

जवाब: हां, सप्ताहांत को छोड़कर सुबह 7 बजे से रात 8 बजे तक ये सेंटर खुले रहेंगे. 

सवाल: क्या सुबह 7 बजे से पहले और 8 बजे के बाद और वीकेंड पर रेस्टोरेंट पार्सल सेवा दे सकते हैं?

जवाब: तय समय के मुताबिक सुबह 7 बजे से रात 8 बजे तक ही ऐसे रेस्टोरेंट से पार्सल लिया जा सकता है. लेकिन खुद ग्राहक को ही रेस्टोरेंट तक आना होगा. वीकेंड पर कोई सुविधा नहीं रहेगी. हालांकि ई-कॉमर्स सेवाएं तय समय के मुताबिक जारी रहेंगी. ये समय स्थानीय प्रशासन पर निर्भर करता है.

3 हफ्ते का लगेगा लॉकडाउन!

इस बीच कोरोना के कारण बिगड़ते हालात के मद्देनजर महाराष्ट्र के मंत्री विजय वडेट्टीवार ने कहा कि कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते मामलों को नियंत्रित करने के लिए राज्य में तीन सप्ताह के लॉकडाउन की जरूरत है. उन्होंने कहा कि संक्रमण के मामलों में तेज वृद्धि को देखते हुए वीकेंड लॉकडाउन से काम नहीं चलेगा. राहत और पुनर्वास मंत्री ने एक टीवी चैनल से कहा, ‘संक्रमण रोकने के लिए हम हर मुमकिन कदम उठा रहे हैं लेकिन काफी मजबूत कार्यबल की भी जरूरत है. हम जल्द ही पोस्ट ग्रेजुएशन पूरा करने वाले छात्रों समेत पांच लाख डॉक्टर उपलब्ध करवाएंगे.’

पाबंदी बढ़ाने की जरूरत

वडेट्टीवार ने कहा कि सामुदायिक स्तर पर संक्रमण के प्रसार और लोगों की मौतें रोकने के लिए ट्रेनों की आवाजाही और सार्वजनिक स्थानों पर भीड़भाड़ रोकने के लिए पाबंदी लगाने की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘राहत और पुनर्वास मंत्री होने के नाते मैं मांग करता हूं कि महज सप्ताहांत पर लॉकडाउन के बजाए हमें तीन सप्ताह तक लॉकडाउन लगाना चाहिए. सामुदायिक संक्रमण रोकने और लोगों की जान बचाने की जरूरत है.’ मंत्री ने कहा कि वह मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के समक्ष यह मांग उठाएंगे.

ये भी पढ़ें: सोने का रेट 46 हजार, शादियों में खरीदारी करना चाहते हैं; तो यही सही समय

आज से वीकेंड लॉकडाउन

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में हफ्ते के 7 दिन नाइट कर्फ्यू और वीकेंड पर लॉकडाउन का आदेश लागू है. सरकार के आदेशानुसार, शुक्रवार रात 8 बजे से वीकेंड लॉकडाउन की शुरुआत होगी जो सोमवार की सुबह 7 बजे तक रहेगा. इस दौरान सिर्फ जरूरी सेवाओं में शामिल चीजें जैसे मेडिकल, किराना, फल, दूध की दुकान को खोलने की इजाजत होगी. जबकि होटलों से सिर्फ पार्सल सुविधा का अनुमति होगी.





Source link

%d bloggers like this: