July 31, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

राजस्थान के कई जिलों में बंद होगा कोरोना वैक्सीनेशन कार्य, CM गहलोत ने बताई वजह


Jaipur: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि प्रधानमंत्री ने 11 अप्रैल को ज्योतिबा फुले जयंती से 14 अप्रैल को आंबेडकर जयंती तक ‘टीका उत्सव’ मनाने का आह्वान किया है लेकिन राज्यों में वैक्सीन ही उपलब्ध नहीं है. ऐसे में टीका उत्सव कैसे मनाया जा सकता है?

उन्होंने कहा कि केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह एवं केन्द्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद द्वारा दिया गया राज्यों में वैक्सीन की कमी ना होने का बयान तथ्यात्मक रूप से पूर्णत: गलत है. राजस्थान कोरोना प्रबंधन एवं वैक्सीनेशन में शुरुआत से अग्रणी रहा है. 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का वैक्सीनेशन करने में राजस्थान सभी राज्यों में सबसे आगे है.

ये भी पढ़ें-Jaipur: 3 से ज्यादा केस मिलने पर भी अब बनेगा कंटेनमेंट जोन, 2 कोचिंग सेंटर सील

 

अशोक गहलोत ने कहा कि 6 अप्रैल तक केंद्र सरकार से राजस्थान को 1,07,40,860 कोविड वैक्सीन डोजेज प्राप्त हुई है. इनमें से 2,15, 180 वैक्सीन सेना को उपलब्ध करवाई गई है. 8 अप्रैल तक 91,55,370 डोजेज लगा दी गई हैं. करीब 4,34,888 डोजेज खराब हैं, जो केन्द्र सरकार द्वारा अनुमत सीमा 10% के आधे से भी कम है. 

सीएम ने कहा कि प्रदेश में 8 अप्रैल 4.65 लाख, 7 अप्रैल को 5.81 लाख, 6 अप्रैल को 4.8 लाख एवं 5 अप्रैल को
5.4 लाख वैक्सीन डोजेज लगाई गईं. 9 अप्रैल की सुबह प्रदेश में करीब 9.70 लाख वैक्सीन डोजेज शेष थीं. प्रतिदिन करीब 5.18 लाख वैक्सीन औसतन राजस्थान में लगाई जा रही हैं.आज का वैक्सीनेशन का कार्य पूरा होने के बाद प्रदेश में करीब 5 लाख वैक्सीन डोजेज ही बची हैं जो आगे वैक्सीनेशन के लिए अपर्याप्त हैं.

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने वैक्सीन की 3.83 लाख डोजेज की अगली खेप 12 अप्रैल को आना प्रस्तावित है. इस कारण राजस्थान में कल कई जिलों में वैक्सीनेशन का कार्य बंद करना पड़ेगा. 3.83 लाख डोजेज से भी एक दिन से अधिक वैक्सीनेशन नहीं किया जा सकेगा.

ये भी पढ़ें-कोरोना को लेकर गहलोत सरकार अलर्ट, गाइडलाइन जारी, जानें क्या हुआ बदलाव

 

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, 8 अप्रैल को आंध्र प्रदेश में 1.2 दिन, बिहार में 1.6 दिन, उत्तर प्रदेश में 2.5 दिन, उत्तराखंड में 2.9 दिन, उडीसा में 3.2 दिन, मध्य प्रदेश में 3.5 दिन और महाराष्ट्र में 3.8 दिन की डोजेज ही शेष थी. कई राज्यों से आज वैक्सीनेशन केन्द्रों पर वैक्सीन उपलब्ध ना होने की तस्वीरें भी सामने आई हैं. ऐसे में केन्द्र सरकार को स्पष्ट तौर पर वैक्सीन की कमी होने की बात सार्वजनिक तौर पर कहनी चाहिए.

सीएम ने कहा कि वैक्सीनेशन के कार्य में कोई राजनीति नहीं की जा रही है लेकिन तथ्यों से स्पष्ट है कि अनेक राज्यों में
वैक्सीन की कमी है. केंद्र सरकार को सार्वजनिक तौर पर वैक्सीन डोजेज की स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए.





Source link

%d bloggers like this: