July 31, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

Jaipur: 3 से ज्यादा केस मिलने पर भी अब बनेगा कंटेनमेंट जोन, 2 कोचिंग सेंटर सील


Jaipur: जयपुर में कोविड गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर प्रशासन ने सख्ती करना शुरू कर दिया है. गृहविभाग की जारी गाइड लाइन को नजरअंदाज कर बड़ी संख्या में छात्रों को एक ही हॉल में बिना सोशल डिस्टेंसिंग के बैठाकर पढ़ाने के मामले में मानसरोवर और गोपालपुरा बाइपास पर दो कोचिंग सेंटरों को सील किया है.

इसके अलावा प्रशासन की ओर से नियुक्त किए इंसीडेंट कमांडरों ने जयपुर शहर के अलग-अलग इलाकों में 69  माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए हैं. ये कंटेनमेंट जोन उन जगहों पर बनाए हैं जहां 3 या उससे ज्यादा कोरोना के संक्रमित मरीज मिले हैं.

ये भी पढ़ें-Rajasthan में Corona की भयावह तस्वीर, 24 घंटे में आए 3970 नए पॉजिटिव केस

 

जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने बताया कि राजधानी जयपुर में कोरोना केसों की संख्या तेजी से बढ़ने के साथ ही कंटेनमेंट जोन की संख्या भी बढ़ रही है. मालवीय नगर, बजाज नगर, मुहाना, जगतपुरा, रामनगरीया सहित कई क्षेत्रों में आज एक दर्जन से ज्यादा मिनी कंटेनमेंट जोन बनाए गए है. यहां किसी घर तो किसी गली में 3 या उससे ज्यादा संक्रमित केस मिले है.
 
नेहरा ने कहा कि अब तक कंटेनमेंट जोन के लिए जो 5 केसों की लिमिट कर रखी है, उसे कम करके 3 करने की तैयारी की जा रही है. इधर, नगर निगम मानसरोवर जोन उपायुक्त और इंसीडेंट कमांडर आभा बेनीवाल ने शुक्रवार दोपहर जब जयपुर के गोपालपुरा बाइपास पर रिद्धि-सिद्धी तिराहे के पास अभिज्ञान सरोकार कोचिंग सेंटर पहुंची तो एक हॉल में लगभग 50 से ज्यादा स्टूडेंट्स बिना सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) के बैठे दिखाई दिए. 

ये भी पढ़ें-बड़ी खबर: Rajasthan में कल सुबह 6 से रात 12 बजे तक बंद रहेंगे Petrol-Diesel पंप

 

यहां कई स्टूडेंट्स ने फेस मास्क भी नहीं लगा रखा था. इसी तरह मानसरोवर स्थित स्प्रींग बोर्ड अकेडमी कोचिंग सेंटर में भी कुछ ऐसा ही हाल देखने को मिला. इस पर उपायुक्त बेनवाल ने वहां पढ़ रहे सभी स्टूडेंट्स को बाहर निकलवाया और दोनों सेंटरों को आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत 4 दिन के लिए सील कर दिया.





Source link

%d bloggers like this: