July 26, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

Maharashtra: ‘ब्रेक द चेन’ की बंदिशों से पहले छलका लोगों का दर्द, राहत पैकेज की अपील


मुंबई: कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट पर काबू पाने के लिए महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने मुंबई (Mumbai) समेत पूरे महाराष्ट्र में ‘ब्रेक द चेन’  (BREAK THE CHAIN) कार्यक्रम के तहत बुधवार रात 8 बजे पांबदियो की घोषणा की हैं. सरकार के इस ऐलान से दुनियाभर में मशहूर मुंबई के डिब्बेवाले नाराज हैं. डिब्बेवालों का कहना है कि सरकार ने फेरीवालो, जैसे कई तबकों को राहत देने की घोषणा की है लेकिन उनके लिए कोई बात नही कही गई. इसके साथ ही डिब्बे वालों ने भी अपने संगठन के काम को जरूरी सेवा (Essential Services) में शामिल करने की मांग की है. 

गैर मराठियों से भेदभाव!

इसी तरह सरकार ने आज रात 8 बजे से शुरू जिन पांबदियो का ऐलान किया उसके तहत मुंबई के रिक्शेवालों के लिए पैकेज का एलान किया है. लेकिन टैक्सी वालों (Taxi Drivers) के लिए कोई एलान नहीं हुआ. इस वजह से यहां एक नई बहस शुरू हो गई है. दरअसल मुंबई में रिक्शे वालों की तादाद करीब साढ़े 12 लाख है जिनमें ज्यातादर मराठी समुदाय के लोग हैं. वहीं टैक्सी वालो की तादाद 80 हजार है और उनमें से ज्यादातर उत्तर भारतीय लोग हैं.

ये भी पढ़ें- Maharashtra: बुलढाणा में ‘कोरोना विस्फोट’ से हड़कंप, एक साथ सामने आए 93 संक्रमित मरीज

‘ब्रेक द चेन’ में ये पाबंदी

महाराष्ट्र में 15 दिन का लॉकडाउन (Lockdown) जैसा कर्फ्यू लगा दिया गया है. सीएम उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने इस ऐलान के दौरान कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ युद्ध एक बार फिर शुरू हो गया है. राज्य में 15 दिन तक धारा 144 लागू रहेगी, बिना जरूरत के कहीं भी आना जाना बंद रहेगा. सिनेमा हॉल, थिएटर, एम्यूजमेंट पार्क, वीडियो गेम पार्लर आदि बंद रहेंगे. जिम, स्वीमिंग पूल, क्लब और स्पोर्ट कॉम्पलेक्स बंद रहेंगे. फिल्म, एड और टीवी सीरियल सभी की शूटिंग बंद रहेगी. स्पा, सलून, ब्यूटी पार्लर आदि बंद रहेंगे. सभी धार्मिक स्थल बंद रहेंगे. सभी स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे. धार्मिक, पोलिटिकल और सामाजिक गतिविधियों की इजाजत नहीं होगी. 

ये भी पढ़ें- CBSE Board Exam 2021 Cancelled: Coronavirus के चलते 10वीं की परीक्षा रद्द, 12वीं की टली

 

LIVE TV

 





Source link

%d bloggers like this: