July 31, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

US के बाद अब South Africa ने Johnson & Johnson की Corona Vaccine के इस्तेमाल पर लगाई रोक, यह है वजह


जोहानिसबर्ग: अमेरिका (America) के बाद अब दक्षिण अफ्रीका (South Africa) ने भी जॉनसन एंड जॉनसन (Johnson & Johnson) की COVID-19 वैक्सीन के इस्तेमाल पर रोक लगाने का फैसला लिया है. ऐसी खबरें सामने आईं थीं कि कंपनी का टीका लगवाने वाली छह महिलाओं के शरीर में खून के थक्के जम गए (Blood Clot) और साथ ही प्लेटेलेट्स भी गिर गए. इसे ध्यान में रखते हुए दक्षिण अफ्रीका सरकार ने वैक्सीन के इस्तेमाल पर रोक लगाने का फैसला लिया है. 

Health Minister ने कही ये बात 

स्वास्थ्य मंत्री ज्वेली मिजे ने मंगलवार शाम को एक बयान में कहा कि वैक्सीन से महिलाओं के बीमार होने की जानकारी के बाद मैंने वैज्ञानिकों के साथ तत्काल विचार-विमर्श किया. उन्होंने सलाह दी है कि यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) के फैसले को हल्के में नहीं लिया जा सकता. मिजे ने आगे कहा, ‘उनकी सलाह पर हमने खून के थक्के जमने और जॉनसन एंड जॉनसन टीके के बीच संबंध का पता लगने तक इस टीके का इस्तेमाल रोकने का फैसला किया है’.

ये भी पढ़ें -WB Election 2021: रैलियों में उड़ रहीं कोरोना नियमों की धज्जियां, Election Commission ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

US में सामने आए हैं मामले

हालांकि, मिजे ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका में टीका लगवाने के बाद खून के थक्के जमने की कोई खबर नहीं आई है जबकि 289,787 स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों को यह टीका लग चुका है. खून के थक्के जमने के सभी मामले अमेरिका में आए हैं. जॉन्स हॉप्किन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार, दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस से 1,561,559 लोग संक्रमित हो चुके हैं और 53,498 लोगों की मौत हो चुकी है.

68 लाख डोज दी जा चुकी हैं

इससे पहले, अमेरिकी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन ने एक संयुक्त बयान में कहा था कि जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन के इस्तेमाल से कुछ गंभीर खतरे सामने आए हैं. सिंगल डोज वाली इस वैक्सीन को दिए जाने के बाद अमेरिका की छह महिलाओं में ब्लड क्लॉट (खून का जमना) की समस्या आई है. ब्लड क्लॉटिंग की समस्या वैक्सीन लेने के कुछ दिनों बाद आने लगी थी. की जांच में पाया गया कि खून में थक्का बनने के बाद इन महिलाओं में प्लेटलेट्स काउंट भी तेजी से घटने लगे थे. बता दें कि अमेरिका में जॉनसन एंड जॉनसन की 68 लाख डोज दी जा चुकी है.

 





Source link

%d bloggers like this: