कोरोना ने पटना AIIMS में दी दस्तक, 384 मेडिकल स्टाफ हुए कोरोना पॉजिटिव


Patna: वर्तमान समय में मानव की जिंदगी भय, बीमारी और इलाज के संसाधनों की कमी के बीच गुजर रहा है. क्योंकि कोरोना संक्रमण ने मानव जिंदगी को भयाक्रांत बना दिया है. यहां, एक तरफ कोरोना संक्रमण के कारण बड़ी संख्या में लोगों का संक्रमित होना जारी है तो दूसरी तरफ अस्पताल में बेड की कमी से ठीक से इलाज नहीं हो पा रहा है. ऊपर से ऑक्सीजन की कमी ने लोगों को मानसिक रोगी बनाकर रख दिया है.

इधर, बड़ी संख्या में लोगों का संक्रमित होना बहुत बड़ी चिंता का विषय बन गया है. वहीं, बिहार के सबसे बड़े हॉस्पिटल पीएमसीएच (PMCH),एनएमसीएच (NMCH) के बाद अब पटना एम्स (AIIMS)में भी बड़ी संख्या में डॉक्टर्स कोरोना संक्रमित हो गए है. बता दें कि पटना एम्स में दूर-दूर से लोग इलाज कराने आते है. वहीं, हॉस्पिटल में नर्सिंग स्टाफ, मेडिकल स्टुडेंट्स, डॉक्टर्स के अलावे आउटसोर्सिंग को मिलाकर कुल 3800 की संख्या में है. लेकिन विडबंना देखिए जिसमे से डॉक्टर्स, मेडिकल स्टाफ मिलाकर कुल 384 लोग कोरोना पॉजिटिव हो गए है. इसी बात से अंदाज़ा लगा सकते है कि कोरोना के कारण स्थिति कितनी भयावह है.

ये भी पढ़ेंबिहार में 18 साल से ऊपर सभी को लगेगा मुफ्त कोरोना का टीका,CM नीतीश ने किया ऐलान

वहीं, 1000 बेड की क्षमता वाले पटना एम्स में अभी वर्तमान में 200 कोविड मरीज भर्ती है. लेकिन अत्याधुनिक मशीन से लैस इस हॉस्पिटल में भी अब डॉक्टर्स की कमी महसूस की जा रही है. पटना एम्स में एक साथ इतने डॉक्टर्स, नर्सिंग स्टाफ का कोरोना पॉजिटिव होने से इलाज कराने आये मरीज और उनके परिजनों में एक दहशत का माहौल बन गया है. खासकर तब जब पटना एम्स में बिहार के दूरदराज से लोग इलाज कराने पहुंचे है, ऐसे में मरीजों के लिए तो परेशानी का सबब बन गया है. अब बिहार के स्वास्थ्य विभाग पटना एम्स में ऑक्सीजन की कमी की साथ-साथ डॉक्टर्स की कमी की ओर कब ध्यान देता है और सब कुछ सुचारू रूप से कब शुरू होता है ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा.

(इनपुट-इश्तियाक खान)



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.