June 18, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

वैक्‍सीन का असर: टीका लगने के बाद 10000 आबादी में से सिर्फ 4 को हुआ कोरोना संक्रमण


नई दिल्ली: कोरोना वैक्सीन (Corova Vaccine) की पहली खुराक लेने के बाद 21,000 से अधिक लोग वायरस से संक्रमित हुए. जबकि 5,500 से अधिक लोग दूसरी खुराक लेने के बाद भी संक्रमित हुए. केंद्र सरकार ने बुधवार को यह जानकारी दी.

ICMR के महानिदेशक बलराम भार्गव ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि 17,37,178 व्यक्तियों ने कोवैक्सिन की दूसरी खुराक ली थी, उनमें से 0.04 प्रतिशत लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं. वहीं कोविशिल्ड की दूसरी खुराक लेने वाले 1,57,32,754 लोगों में से 0.057 प्रतिशत लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं.

क्या है ब्रेकथ्रू इन्फेक्शन?

भार्गव ने कहा कि वैक्सीन संक्रमण के जोखिम को कम करते हैं और मृत्यु और गंभीर संक्रमण को रोकते हैं. उन्होंने कहा कि अगर वैक्सीनेशन के बाद भी कोई संक्रमित हो जाता है तो इसे ब्रेकथ्रू इन्फेक्शन (Breakthrough infection) कहा जाता है.

ये भी पढ़ें- इस देश ने मास्‍क को कहा-BYE, खोले स्‍कूल, पढ़ें कोरोना को मात देने की INSIDE STORY  

10 हजार में से सिर्फ 4 लोगों को वैक्सीनेशन के बाद संक्रमण

भार्गव ने कहा कि अब तक कोवैक्सिन की 1.1 करोड़ खुराकें दी गई हैं. इनमें से 93 लाख लोगों को पहली खुराक मिली और उनमें से 4,208 लोग (0.04 प्रतिशत) लोग संक्रमित हो गए जो प्रति 10,000 की आबादी पर चार है.

उन्होंने कहा कि करीब 17,37,178 लोगों ने दूसरी खुराक ली है और उनमें से केवल 695 लोग (0.04 प्रतिशत) कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए.

ये भी पढ़ें- दिल्ली: कोरोना मरीजों की मदद को आगे आए गौतम गंभीर, कही ये बात

 

भार्गव ने कहा कि कोविशिल्ड की 11.6 करोड़ खुराकें दी गई हैं. दस करोड़ लोगों को पहली खुराक दी गई और 17,145 यानी प्रति 10,000 लोगों में से दो लोगों को संक्रमण हुआ. करीब 1,57,32,754 व्यक्तियों ने इस टीके की दूसरी खुराक ली और उनमें से 5,014 (0.03 प्रतिशत) संक्रमित हुए. प्रति 10,000 लोगों पर दो से चार में ‘ब्रेकथ्रू इन्फेक्शन’ हुआ है जो बहुत कम संख्या है.

आंकड़ों के मुताबिक, 5,709 लोग टीके की दूसरी खुराक लेने के बाद संक्रमित हो गए. उन्होंने कहा, ‘यह छोटी संख्या है और चिंताजनक नहीं है.’

नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वी के पॉल ने कहा कि टीकाकरण के बाद भी जोखिम है इसलिए हम टीकाकरण के बाद भी लोगों को कोविड संबंधी उचित व्यवहार का पालन करने पर जोर देते हैं.

ऑक्सीजन की कमी पर क्या बोले स्वास्थ्य सचिव? 

देश में ऑक्सीजन की कमी के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि देश में प्रति दिन 7,500 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन किया जा रहा है और 6,600 मीट्रिक टन की आपूर्ति राज्यों को चिकित्सीय उपयोग के लिए की जा रही है.

उन्होंने कहा, ‘अभी, हमने निर्देश जारी किए हैं कि कुछ उद्योगों को छोड़कर, उद्योगों की ऑक्सीजन आपूर्ति को सीमित किया जाएगा ताकि अधिक से अधिक ऑक्सीजन चिकित्सीय उपयोग के लिए उपलब्ध हो सके.’





Source link

%d bloggers like this: