UP पंचायत चुनाव: डॉक्टरों की चुनाव में ड्यूटी, संक्रमणकाल में स्वास्थ्य केंद्रों पर लटकेगा ताला?


मीरजापुर: यूपी में इन दिनों पंचायत चुनाव चल रहे हैं, दो चरण में मतदान सम्पन्न हो गया है और अब 26 अप्रैल को तीसरे चरण में मतदान होना है. ऐसे वक्त में जबकि कोरोना ने भीषण कोहराम मचाया हुआ है, ये चुनावी ड्यूटी खासतौर से स्वास्थ्य कर्मियों के गले की हड्डी बनी हुई है. जिले में 26 अप्रैल को होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को सम्पन्न कराने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों को फरमान आ गया है, ऐसे में स्वास्थ्य कर्मी परेशान हैं कि अस्पताल आने वाले मरीजों का क्या होगा?

डॉक्टर से लेकर वार्ड ब्वॉय तक की लगी ड्यूटी
जानकारी के मुताबिक जिला प्रशासन के फरमान में सभी स्वास्थ्यकर्मी शामिल हैं, जिले के सभी सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर तैनात डॉक्टर और फार्मासिस्ट के साथ ही वार्ड ब्वॉय तक की ड्यूटी लगा दी गई है. यानि इस सरकारी फरमान के तहत सभी को सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र छोड़ने पड़ेंगे. सबसे बड़ा संकट कोरोना मरीज और गर्भवती महिलाओं के लिए है. स्वास्थ्य कर्मियों के चुनाव ड्यूटी में जाने से गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी समेत सारी सेवाएं फिलहाल बंद रहेंगी, क्योंकि कोई वैकल्पिक व्यवस्था अबतक तो सामने नहीं आई है.

अपने साधन से ड्यूटी पर पहुंचने का फरमान
जिले के विभिन्न क्षेत्रों में लगाए गई चुनावी ड्यूटी के दौरान सभी को अपने-अपने साधन से पहुंचने का फरमान दिया गया है. सोमवार को होने वाले मतदान के लिए रविवार को ही पोलिंग पार्टी रवाना की जाएगी. रविवार को कर्फ्यू होने से महिला कर्मचारियों को छोड़कर आने वाले परिजनों को मुसीबत का सामना करना पड़ सकता है. इसकी चिंता महिला कर्मचारी जता रही है

जिले में तीसरे चरण में वोटिंग
26 अप्रैल को तीसरे चरण में 20 जिलों में मतदान होना है, जिसमें मीरजापुर, शामली, मेरठ, मुरादाबाद, पीलीभीत, कासगंज, फिरोजाबाद, औरैया, कानपुर देहात, जालौन, 
हमीरपुर, फतेहपुर, उन्नाव, अमेठी, बाराबंकी, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, देवरिया, चंदौली और बलिया शामिल हैं. 

 

WATCH LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.