स्कूली छात्र ने निभाई सच्ची यारी, दोस्त को बचाने के लिए गंवा दी अपनी जान; लोग लिख रहे हैं भावुक संदेश


लंदन: कहते हैं कि असली दोस्त वही है, जो मुसीबत में काम आए. ब्रिटेन (UK) में स्कूल जाने वाला एक किशोर अपने दोस्त की खातिर न केवल बदमाशों से भिड़ गया बल्कि उसे बचाने के लिए अपनी जान गंवा दी. 

पिज्जा खाने रेस्टोरेंट पर गया था

द सन की रिपोर्ट के मुताबिक पूर्वी लंदन (London) में रहने वाला 14 साल का Fares Maatou अब इस दुनिया में नहीं है. वह स्कूल यूनिफार्म में अपने दोस्त के साथ पिज्जा रेस्टोरेंट पर गया था. उसके दोस्त के पास इलेक्ट्रिक स्कूटर था. तभी वहां वहां मौजूद कुछ लड़कों ने उसके दोस्त से स्कूटर छीनने की कोशिश की. जब उसके दोस्त ने विरोध किया तो उन्होंने रॉड से उसके सिर पर हमला किया. अपने दोस्त को बचाने के लिए उसने ऐन मौके पर उसे पीछे खींच लिया. 

इसी दौरान वह रॉड Fares Maatou के सिर में लगी और वह वहीं गिर गया. उसके सिर से खून की धार बहने लगी थी. उसी दौरान मौका देखकर बदमाश इलेक्ट्रिक स्कूटर लेकर भाग गए. उसे घायल हालत में तड़पता देख दोस्त ने पुलिस को फोन किया. पुलिस मौके पर पहुंची, उसकी गंभीर हालत देखकर तुरंत एयरलिफ्ट कर लंदन ले जाया गया लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ (Murder) दिया.

जानकारी मिलते ही बदहवास हो गई मां

जब घटना की जानकारी Fares Maatou की मां को हुई तो वह बदहवासी की हालत में घटनास्थल पर पहुंची और वहां का मंजर देखकर रोते-रोते बेहोश हो गई. उसका एक ही सवाल था कि उसके बेटे ने किसी का क्या बिगाड़ा था कि उसे मार दिया गया. लेकिन उसके सवालों का जवाब देने वाला कोई नहीं है. 

Fares Maatou के परिवार की विडंबना केवल यही नहीं है. इस दुनिया से जा चुके Fares कोरोना संक्रमित होने की वजह से अस्पताल में भर्ती हैं. उनकी हालत गंभीर बनी हुई है. उनकी बिगड़ती सेहत को देखते हुए उन्हें बेटे की हत्या की जानकारी नहीं दी गई है. आशंका है कि अगर उन्हें इसके बारे में बताया गया तो शायद वे यह सदमा सहन न कर सकें. Fares के हत्यारों का अब तक कोई सुराग नहीं मिला है.

दोस्त ने इंस्टाग्राम पर दी भावुक श्रद्धांजलि

उधर उसके दोस्त ने इंस्टाग्राम पर पोस्ट लिखकर अपने बहादुर फ्रेंड को भावभीनी श्रद्धांजलि दी है. दोस्त ने लिखा है, ‘मेरा दोस्त बहुत साहसी था. उसने मुझे बचाने के लिए अपनी जान दे दी. मैं यह बात कभी नहीं भूल सकता. मुझे इस बात पर बेहद गुस्सा आता है कि Fares Maatou के गिरने के बाद भी वे इलेक्ट्रिक स्कूटर लूटकर ले गए और मैं कुछ नहीं कर सका.’ 

यह भी पढ़ें- कोरोना से जंग में US ने हटाया Johnson & Johnson की वैक्सीन पर लगा बैन, भारत के हालात पर जताई चिंता

लंदन में पिछले कुछ दिनों में हुई यह 11वीं हत्या (Murder) है. कई मामलों में आरोपी अब तक पकड़े नहीं गए हैं. छोटे-छोटे मामलों में खुलेआम हो रही इन हत्याओं से ब्रिटिश समाज में सिहरन है. लोगों को सबसे ज्यादा धक्का स्कूल स्टूडेंट Fares Maatou की हत्या से लगा है. उसके संगी-साथी अपने अपने तरीके से उसे याद कर रहे हैं और उसके परिवार को इंसाफ देने की मांग कर रहे हैं. 

LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *