Punjab के अमृतसर में हुई Oxygen की कमी, एक अस्पताल में 6 मरीजों की मौत; CM ने दिए जांच के आदेश


अमृतसर: पंजाब के अमृतसर (Amritsar) स्थित एक अस्पताल में शनिवार को कथित रूप से ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी से 6 मरीजों की मौत हो गई, जिसके बाद पंजाब सरकार (Punjab Government) ने घटना के जांच के आदेश दिए हैं.

5 मृतक थे कोरोना संक्रमित

अस्पताल ने बताया कि 6 मृतकों में से 5 कोरोना वायरस से संक्रमित थे. इसमें से दो मरीज गुरदासपुर जिले के, एक मरीज तरन-तारन के रहने वाले थे. जबकि बाकी तीन मरीज अमृतसर के ही थे. नीलकांत अस्पताल के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक सुनील देवगन ने आरोप लगाया, ‘जिला प्रशासन से बार-बार मदद की गुहार लगाने के बावजूद किसी ने सहायता नहीं की. उन्होंने दावा किया कि दो महिलाओं सहित 6 मरीजों की मौत ऑक्सीजन की कमी की वजह से हुई है.’

CM अमरिंदर ने दिए जांच के आदेश

बहरहाल, चिकित्सा शिक्षा मंत्री ओ पी सोनी ने आरोपों का खंडन करते हुए दावा किया कि अस्पताल ने ऑक्सीजन की कमी को लेकर कोई उचित जानकारी नहीं दी थी. उन्होंने कहा, ‘प्रशासन के लिए वॉट्सऐप के एक ग्रुप पर एक साधारण मैसेज छोड़ा गया.’ अब पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amrinder Singh) ने अमृतसर के डीसी को घटना की जांच करने के निर्देश दिए हैं. सिंह ने यह भी कहा कि पहली नजर में लगता है कि अस्पताल ने ऑक्सीजन की कमी का सामना कर रहे निजी अस्पतालों को दिए गए निर्देशों का उल्लंघन किया है, जिनमें कहा गया था कि वे अपने यहां के मरीज सरकारी मेडिकल कॉलेज में स्थानांतरित कर दें.

ये भी पढ़ें:- गुजरात के डिप्टी सीएम कोरोना संक्रमित, गृह मंत्री अमित शाह संग कार्यक्रम में हुए थे शामिल

सरकारी अस्पतालों को दी जा रही प्राथमिकता!

यह घटना गंभीर रूप से बीमार कोविड-19 मरीजों की जान बचाने के लिए ऑक्सीजन की कमी के संकट के बीच हुई है. पिछले कुछ दिनों के दौरान देश के अन्य हिस्सों में इसी तरह की घटनाएं हुई हैं. देवगन ने दावा किया कि मरीजों की मौत होने के बाद ऑक्सीजन के सिर्फ 5 सिलेंडर पहुंचाए गए. वहीं ऑक्सीजन के तीन प्रमुख आपूर्तिकर्ताओं ने कहा है कि आपूर्ति के मामले में सरकारी अस्पतालों को प्राथमिकता दी जा रही है. निजी अस्पतालों को ऑक्सीजन की आपूर्ति रोकने के लिए ऑक्सीजन संयंत्रों के बाहर पुलिस बल की भारी तैनाती की गई है. 

ये भी पढ़ें:- सिर्फ 109 रुपये में मिल रहा अनलिमिटेड Calling-Internet का ऑफर! अभी करें रिचार्ज

पुलिस ने जांच के लिए बनाई स्पेशल कमेटी

एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि डीसी ने मामले की जांच करने के लिए दो सदस्य समिति गठित की है. डीसी ने पत्रकारों से कहा कि बिना किसी पक्षपात के निजी अस्पतालों को ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है और यहां के सरकारी अस्पतालों में भी शुक्रवार रात को ऑक्सीजन आपूर्ति की कमी थी. उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों से कहा गया है कि अगर उनके पास ऑक्सीजन नहीं है तो वे मरीजों को भर्ती न करें और उन्हें गुरु नानक देव अस्पताल रेफर कर दें.

LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.