June 14, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

मौत के बाद भी नहीं मिल रही मुक्ति, 20 घंटे तक घर में पढ़ा रहा Corona मृतक का शव


Darbhanga: दरभंगा जिले में कोरोना ने भयावह रूप ले लिया है. यहां हर दिन मौतों की संख्या में इजाफा हो रहा है. मृतकों के रिश्तेदार शव को छूने से परहेज कर रहे हैं. इस वजह से शवों के अंतिम संस्कार में काफी दिक्कत आ रही है.

शनिवार को शहर में कोरोना से मृत एक 45 वर्षीय व्यक्ति का शव 20 घंटे बाद उसके घर से उठाया गया. कबीर सेवा संस्थान के सदस्यों ने इस शव का अंतिम संस्कार किया.

बता दें की घटना के बाद आस पड़ोसियों ने दरवाजा बंद कर लिया. अंत में जब इस ह्रदय विदारक घटना की सुचना समाजसेवी नविन सिन्हा तक पहुंची तो उन्होंने परिवार को मदद पहुंचाने को लेकर प्रयास शुरू किया.

ये भी पढ़ें- Oxygen की कमी से जूझ रहा फोर्ड हॉस्पिटल, खतरे में मरीजों की जान

पूरा मामला नगर थाना क्षेत्र के वार्ड नंबर 27 के गंगासागर मुहल्ले का है. जहां किराए के दो मंजिला मकान में कोरोना से संक्रमित हो कर 45 वर्षीय व्यवसायी अपने घर में ही आइसोलेशन में थे. घर में ही रहकर वह अपना इलाज कर स्वयं को ठीक करने में जुटे थे. लेकिन शायद ऊपर वाले को ये मंजूर न था और 23 तारीख को उनकी मौत हो गई. 

घर में उनके तीन बच्चे और पत्नी ही थे. शव भारी था और दो मंजिले मकान के कमरे में पड़ा था. मृतक की पत्नी और बेटियां बिलखते हुए लगातार लोगों और जिला प्रशासन से शव उठाने की गुहार लगा रही थीं लेकिन शव को उठाने में उनकी मदद के लिए कोई आगे नहीं आया. शुक्रवार की रात और शनिवार को दिन भर शव घर में ही पड़ा रहा. फिर कबीर सेवा संस्थान के सदस्य सह समाज सेवी नवीन सिन्हा ने प्रयास शुरू किया.

ये भी पढ़ें- Corona मरीजों की मदद के लिए आगे आया महावीर मंदिर, मुफ्त ऑक्‍सीजन, इलाज सहित मिलेंगी कई सुविधाएं

आखिरकार डीएम डॉ. त्यागराजन एसएम और नगर आयुक्त मनेश कुमार मीणा के आदेश पर एक स्वास्थ्य कर्मी मौत के 20 घंटे बाद मृतक के घर पहुंचा और उसने शव को सेनिटाइज किया. सबसे बड़ी समस्या शव दो मंजिला पर था और घर में कोई पुरुष सदस्य भी नहीं था. इसके उपरांत मृतक के एक मात्र रिश्तेदार, मकान मालिक और समाजसेवी नवीन सिन्हा साथ में राजू राम ने शव को दो मंजिला मकान से उतारकर एम्बुलेंस में रखा.

इस दौरान अगल बगल के सभी घरों का दरवाजा बंद रहा. कोई मदद को आगे नहीं आया. वहीं, नवीन सिन्हा के साथ मिलकर अन्य लोगों ने समाज के सामने मानवता की मिसाल प्रस्तूत करते हुए उनका अंतिम संस्कार किया. 

इधर, दरभंगा डीएम डॉ. त्यागराजन एसएम ने कबीर सेवा संस्थान के इस कार्य की सराहना की है. उन्होंने कहा कि ‘पिछले साल से लेकर अब तक कबीर सेवा संस्थान ने कोरोना से मृत वैसे अनेक लोगों का अंतिम संस्कार किया है’. उन्होंने कहा कि ‘इस संस्था का कार्य सराहनीय है. कबीर सेवा संस्थान को जिला प्रशासन की ओर से सम्मानित किया जाएगा.’

(इनपुट- मुकेश कुमार) 





Source link

%d bloggers like this: