SBI खाताधारकों के लिए जरूरी खबर! अब ऑनलाइन बैंकिंग के लिए OTP है जरूरी, फ्रॉड रोकने के लिए उठाया कदम


नई दिल्ली: SBI Online Banking: तेजी से बढ़ते ऑनलाइन बैंकिंग फ्रॉड (Online bank fraud) से अपने ग्राहकों को सेफ रखने के लिए देश के सबसे बड़े बैंक State Bank of India (SBI) ने ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को और ज्यादा सुरक्षित कर दिया है. 

ये भी पढ़ें- क्या PPF से बेहतर है VPF में निवेश? जानिए कौन देता है आपको ज्यादा रिटर्न और Tax Savings

ऑनलाइन बैंकिंग के लिए नया सिक्योरिटी फीचर  

ग्राहकों के बैंकिंग ट्रांजैक्शन को ज्यादा सुरक्षित करने के लिए SBI ने One Time Password (OTP) आधारित Log In की शुरुआत की है. SBI का कहना है कि OTP बेस्ड पासवर्ड आपकी सुरक्षा में एक और परत जोड़ेगा. 

अगर आप अपने मोबाइल फोन पर हर ट्रांजैक्शन के लिए एक अलर्ट चाहते हैं तो आपको अपने SBI अकाउंट में एक हाई सिक्योरिटी पासवर्ड (OTP) सेट करना होगा. ये आप बड़ी आसानी से कर सकते हैं.

 

 

SBI में हाई सिक्योरिटी पासवर्ड को कैसे सेट करें 

1. आपको SBI की वेबसाइट पर जाकर लॉग इन करना है
2. इसके बाद ‘My accounts & profile’ पर क्लिक करें 
3. ‘High-Security Password’ लिंक पर क्लिक करें, यहां पर आपको अपना पासवर्ड डालना होगा तब अगले पेज पर जाएंगे
4. अगले पेज पर आपको कुछ सिक्योरिटी ऑप्शंस दिखाई देंगे

5– इंट्रा या इंटर बैंक पेमेंट, क्रेडिट कार्ड या IMPS या इंटरनेशनल फंड ट्रांसफर
अगर आपने Yes को सेलेक्ट किया तो हर ट्रांजैक्शन के लिए आपको OTP मिलेगा, अगर आपने No सेलेक्ट किया तो आपको 10,000 रुपये प्रति दिन तक ट्रांजैक्शन पर आपको OTP नहीं मिलेगा. 

6– ऐसे ट्रांजैक्शन जो मर्चेंट के जरिए किए गए 
7– अब आपको ये चुनना है कि आपको OTP कैसे चाहिए, SMS के जरिए, SMS-ईमेल के जरिए या मोबाइल ऐप के जरिए 
OTP के जरिए हाई सिक्योरिटी पासवर्ड आपको अपने हर बैंकिंग ट्रांजैक्शन पर नजर रखने में मदद करेगा. यानी जब भी कोई लेन-देन होगा आपको तुरंत सूचना मिल जाएगी और किसी भी फ्रॉड या गलत ट्रांजैक्शन से आप तुरंत अलर्ट हो जाएंगे. 
 
SBI OTP बेस्ड कैश निकासी के जरिए ग्राहक ATM से 10,000 रुपये या इससे ज्यादा कैश तभी निकाल सकते हैं जब उनके पास ATM पिन के साथ साथ रजिस्टर्ड मोबाइल पर आया OTP होगा. ये फैसिलिटी 1 जनवरी 2020 से लागू है. 

इसके अलावा SBI ने सेविंग अकाउंट खोलने के लिए अपने मोबाइल ऐप YONO पर वीडियो आधारित KYC (know your customer) की भी शुरुआत की है. ये सुविधा आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और फेशियल रिकगनीशन टेक्नोलॉजी पर आधारित है जो कि पेपरलेस और कॉन्टैक्टलेस है.

ये भी पढ़ें- Aadhaar Card को अपने मोबाइल नंबर से तुरंत करें लिंक, वरना अटक जाएंगे कई काम! ये है बेहद आसान तरीका

LIVE TV

 



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *