लंदन: सीरियल ब्लास्ट में सर्वाइवर 15 साल बाद खोजी वो लड़की, जिसने हाथ पकड़कर दिया था जीने का भरोसा


लंदन: ब्रिटेन की राजधानी में 15 साल पहले सीरियल ब्लास्ट हुए थे. ये ब्लास्ट लंदन ट्यूब नेटवर्क और बसों के नेटवर्क में हुए थे, जिसमें 26 लोगों लोगों की मौत हो गई थी. लेकिन इस धमाके में एक 23 साल का लड़का जिंदा बच गया था. उसे जिंदा रखा था, एक अजनबी अहसास ने. उस अहसास ने, जो एक लड़की थी और उसने मरते हुए उस लड़के को कहा था कि वो मरेगा नहीं. वो बस उसका हाथ पकड़ ले. 

लड़की ने दिया था जिंदा रहने का भरोसा

जी हां, ये कोई फसाना नहीं, बल्कि हकीकत है. साल 2005 के लंदन सीरियल ब्लास्ट के सर्वाइवर्स में से एक कार्ल की ये कहानी है. वो 15 सालों से उस लड़की के लिए छटपटा रहे थे कि उन्हें बचाते हुए कहीं उस लड़की की जान तो नहीं चली गई. और अगर वो लड़की बच भी गई, तो वो कौन है, जिसने उसे बचाया. इस बीच 15 साल का समय निकल गया, लेकिन कार्ल कभी उस लड़की को भूल नहीं पाए. बीबीसी 2 ने एक सीरीज शुरू किया है, जिसमें कार्ल की कहानी दिखाई गई है. कार्ल की कहानी जानने के बाद टीम ने तय किया कि वो कार्ल को इस अफसोस से बाहर निकालेंगे. इसके बाद शुरू हुआ, उस धमाके में मारे गए लोगों की खोज और बचे हुए लोगों तक पहुंचने की जद्दोजहद. और आखिरकार वो लड़की मिल ही गई, जिसने कार्ल विलियम्स को इस बात का भरोसा दिया था कि वो जिंदा बच जाएगा. 

ये भी पढ़ें: जर्मनी: महिला ने जंगल में ग्रेनेड देख बुलाई पुलिस; जांच के बाद पता चला कि ये तो Adult Toy है!

15 सालों तक अफसोस में जी रहे थे कार्ल

कार्ल ने बताया कि उस धमाके में उनके साथ बैठे 26 लोग मारे गए थे. उन्हें यही पता था कि वो बस चंद खुशनसीब लोगों में से हैं, जो इस हमले में थोड़ी बहुत चोट खाकर ही बच गए थे. लेकिन उन्हें 15 साल पुराना वो अहसास हमेशा परेशान करता, जिसमें उनसे लड़की ने कहा था कि वो मरेंगे नहीं, बस उसका हाथ थाम ले. ये कहानी दिखाए जाने के बाद कार्ल को सुसान नाम की लड़की का मेल आया, जिसमें सुसान ने लिखा था कि वो वही लड़की थी. सुसान ने ये भी लिखा था कि उसने सिर्फ मानवता के नाते हाथ बढ़ाया था और सच में वो उस बात को भूल गई थी. लेकिन कार्ल की बातें सुनकर उसे वो दिन याद आ गया. 



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.