Assembly Election Results 2021: 2 मई को आएंगे 5 राज्यों के विधान सभा चुनाव के नतीजे, क्या है बहुमत का आंकड़ा, जानिए सब कुछ


नई दिल्ली: 4 राज्यों और 1 केंद्र शासित प्रदेश में विधान सभा चुनाव के नतीजे (Assembly Election Result 2021) कल यानी 2 मई को घोषित होंगे. चुनाव आयोग (Election Commission) असम, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, केरल और पुडुचेरी में सुबह 8 बजे से वोटों की गिनती शुरू करेगा, और शाम तक रिजल्ट की घोषणा कर दी जाएगी. इसी के साथ ये साफ हो जाएगा कि राज्य में किस पार्टी की सरकार बनेगी.

चुनाव आयोग ने पूरी की तैयारी

रविवार को होने वाली मतगणना के लिए चुनाव आयोग ने तैयारियां पूरी कर ली है. काउंटिंग के दौरान सभी लोगों को कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए जारी गाइडलाइन का पालन करने की सलाह दी गई है. यही कारण है कि चुनाव आयोग ने एक कमरे में मतगणना के लिए सिर्फ 7 मेजें रखने की अनुमति दी है. जबकि इससे पहले यह संख्या 14 होती थी. अधिकारियों के मुताबिक, अधिक संख्या में मेजें वहां लगाई जाएंगी जहां पर जगह की कमी नहीं हो.

कोरोना रिर्पोट दिखाने पर ही प्रत्याशियों को एंट्री

अधिकारियों ने बताया, ‘मतगणना शुरू करने से पहले सभी ईवीएम और वीवीपैट को भी सैनेटाइज किया जाएगा. वहीं मतगणना में शामिल होन वाले लोगों के लिए केंद्र के बाहर ही मास्क, फेस शील्ड और सैनिटाइजर रखे होंगे. प्रत्येक मतगणना केंद्र को कम से कम 15 बार सैनेटाइज करने का काम किया जाएगा. इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का संख्ती से अनुपालन करने के साथ ही भीड़ एकत्र करने पर रोक रहेगी. इसी के चलत किसी भी प्रत्याशी या उनके प्रतिनिधि को कोविड-19 की नेगेटिव रिपोर्ट या टीके की दोनों खुराक लेने के प्रमाण देखाने पर ही मतगणना केंद्र के अंदर एंट्री दी जाएगी.

ये भी पढ़ें:- दिल्ली: कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर ने किया सुसाइड, पंखे से लटका मिला शव

बंगाल में CRPF की 256 कंपनियां तैनात

इसके साथ ही, पश्चिम बंगाल (West Bengal) में 108 मतगणना केंद्रों पर सुरक्षा की 3 स्तरीय व्यवस्था की गई है, जहां बने स्ट्रांग रूम में ईवीएम मशीन और वोटर वेरीफाइबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) को कड़ी सुरक्षा में रखा गया है. आयोग ने बताया कि 23 जिलों में फैले मतगणना केंद्रों पर कम से कम 292 सुपरवाइजर और केंद्रीय सुरक्षा बलों (CRPF) की 256 कंपनियों को तैनात किया गया है. 

केरल में सत्तारूढ़ गठबंधन की जीत का अनुमान

केरल में 140 विधानसभा सीटों पर हुए चुनाव में मुख्यमंत्री पिनराई विजयन, उनकी कैबिनेट के 11 सदस्य, विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीथला, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ओम्मन चांडी, भाजपा के राज्य इकाई के प्रमुख के. सुरेंद्रन, ‘मेट्रोमैन’ ई. श्रीधरन और पूर्व केंद्रीय मंत्री के जे अलफोंस सहित 957 उम्मीदवार मैदान में हैं. सभी एक्जिट पोल और चुनाव पूर्वानुमान में सत्तारूढ़ गठबंधन के लिए जीत का अनुमान जताया गया है, लेकिन विपक्षी यूडीएफ ने उम्मीद नहीं छोड़ी है.

ये भी पढ़ें:- SBI ने जारी किया अलर्ट, 31 मई तक नहीं किया ये काम तो Freeze हो जाएगा अकाउंट

तमिलनाडु में 4000 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला

तमिलनाडु में अभिनेता-नेता कमल हासन के मक्कल निधी मैयम सहित चार गठबंधन मैदान में हैं, लेकिन मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक और मुख्य विपक्षी द्रमुक के बीच है. मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी, उपमुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम, द्रमुक अध्यक्ष एम के स्टालिन, उनके बेटे उदयनिधि स्टालिन, अम्मा मक्काल मुनेत्र कझगम के प्रमुख टीटीवी दिनाकरण, एमएनएम के हसन और भाजपा की राज्य इकाई के प्रमुख एल. मुरूगन सहित करीब 4000 उम्मीदवार मैदान में हैं. चुनाव 234 विधान सभा सीटों पर हुए. इसके अलावा कन्याकुमारी लोक सभा सीट पर उपचुनाव भी हुआ था, जहां कांग्रेस के विजय वसंत और भाजपा के पोन राधाकृष्णन के बीच मुख्य मुकाबला है.

पुडुचेरी में 1782 सुरक्षाकर्मी किए गए तैनात

केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी के लिए पूर्व मुख्यमंत्री एन. रंगास्वामी नीत ऑल इंडिया एनआर कांग्रेस-भाजपा गठबंधन और कांग्रेस-द्रमुक गठबंधन के बीच मुख्य मुकाबला है. एक्जिट पोल में रंगास्वामी नीत मोर्चे की जीत की संभावना जताई गई है. प्रदेश में वोटों की गिनती के लिए 1382 कर्मियों को तैनात किया गया है, जबकि करीब 400 पुलिसकर्मी सुरक्षा में तैनात होंगे.

ये भी पढ़ें:- महाराष्ट्र: कुछ दिन राहत के बाद फिर कोरोना ग्राफ में आया उछाल, 1 दिन में 802 लोगों की मौत

असम में सुरक्षा के त्रिस्तरीय इंतजाम

वहीं, असम में 331 मतगणना केंद्रों पर सुरक्षा के त्रिस्तरीय इतंजाम किए गए हैं. राज्य में 27 मार्च, एक अप्रैल और छह अप्रैल को तीन चरणों में मतदान हुआ था. असम के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के मुताबिक, मतगणना प्रक्रिया में हिस्सा लेने वाले करीब 35,000 मतगणना अधिकारी तथा उम्मीदवार के प्रतिनिधियों ने 30 अप्रैल को कोविड-19 जांच कराई है. इसके अलावा, 13 राज्यों में 13 विधान सभा सीटों एवं चार लोक सभा सीटों के लिए हुए उपचुनाव की भी मतगणना दो मई को होगी. वहीं निर्वाचन आयोग ने विजय जुलूस निकालने और रोड शो करने पर रोक लगा दी है.

(इनपुट- भाषा से भी)

LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *