June 18, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

Dungarpur : संभलने की जरूरत, Corona की दूसरी लहर युवाओं पर भारी


Dungarpur : राजस्थान के डूंगरपुर जिले (Dungarpur News) में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर युवाओं पर भारी पड़ती जा रही है. कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा शिकार युवा ही हो रहे हैं, जिनकी आयु 21 से 50 साल के बीच है. जिले में अभी करीब 2400 एक्टिव केस (Corona Active Cases) है, जिसमें से 66 प्रतिशत संक्रमित युवा है. वहीं, कोरोना संक्रमण (Coronavirus) से मौते भी युवाओं की ही ज्यादा हो रही है.

यह भी पढ़ें- CM Gehlot ने फिर की PM से अपील, सभी वर्गों के लिए Vaccine फ्री करने का किया आग्रह

डूंगरपुर जिले (Rajasthan News In Hindi) में कोरोना संक्रमण तेज रफ्तार से फैल रहा है. इसमें सबसे बड़ा आंकड़ा युवा वर्ग का है, जो जन अनुशासन पखवाड़े और वीकेंड कर्फ्यू का उल्लंघन करते हुए घूमने-फिरने निकल रहे हैं या फिर उनकी ओर से लापरवाही बरती जा रही है. डूंगरपुर जिले की बात करें तो जिले में अभी 2400 एक्टिव केस है, जिसमें से 66 प्रतिशत युवा संक्रमित है, जिनकी आयु 21 वर्ष से लेकर 50 वर्ष के बीच है. वही 70 प्रतिशत मौते 60 वर्ष से कम उम्र के लोगो की हुई है. 

डूंगरपुर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा
आयु वर्ग  –  एक्टिव केस

1. 0 से 10 वर्ष,   72 केस
2. 11 से 20 वर्ष, 317 केस
3. 21 से 30 वर्ष, 624 केस
4. 31 से 40 वर्ष, 527 केस
5. 41 से 50 वर्ष, 424 केस
6. 51 से 60 वर्ष, 265 केस
7. 61 से 70 वर्ष, 129 केस
8. 71 से 80 वर्ष, 24 केस
9. 81 वर्ष से अधिक, 8 केस

कोरोना संक्रमण के बढ़ते दायरे को लेकर जिला प्रशासन द्वारा किए गए रिव्यू में युवाओं में संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को लेकर चिंता जताई है. जिला कलेक्टर सुरेश कुमार ओला ने कहा कि युवा वर्ग की ओर से कोरोना को लेकर बड़ी लापरवाही बरती जा रही है. सबसे पहले युवा बेवजह घरों से बाहर निकल रहे हैं. इसके बाद सर्दी, जुकाम, खांसी या बुखार जैसी शिकायत होने पर डॉक्टर को नहीं दिखाकर खुद ही अपने स्तर पर दवाइयां ले रहे हैं. 

युवा कोरोना जांच को लेकर भी नहीं आ रहे हैं ऐसे में धीरे-धीरे उनकी तबीयत खराब हो रही है. ऐसे में उनका ऑक्सीजन लेवल 50 से 60 से नीचे चले जाने के बाद अस्पताल पहुंच रहे हैं और उनकी जान बचाना भी मुश्किल हो रहा है.

बहरहाल डूंगरपुर जिले में युवा वर्ग का लापरवाही बरतना उनकी जान पर भारी पड़ रहा है. युवा वर्ग को वैक्सीन नही लगना भी इनमें संक्रमण फैलने का कारण माना जा रहा है, लेकिन जब तक युवा वर्ग को वैक्सीन नही लगती तब तक उन्हें समझदारी दिखाते हुए सरकार की गाइड लाइन की पालना करनी होगी तभी इस महामारी से बचा जा सकता है.

रिपोर्ट : अखिलेश शर्मा

यह भी पढ़ें- Rajasthan में 17 मई तक Covid-19 Red Alert, सरकार ने और कड़े किए छूट के नियम





Source link

%d bloggers like this: