VIDEO: ‘मामाजी मेरी बहन का मैं इकलौता सहारा हूं, प्लीज मुझे नई जिंदगी दे दो’, रोते हुए कोरोना मरीज ने CM से लगाई गुहार


मनोज जैन/उज्जैन: प्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के बीच बीच अस्पतालों में अव्यवस्था सामने आ रही हैं. मरीजों को न तो समय पर उपचार मिल पा रहा है न ही ऑक्सीजन-इंजेक्शन की व्यवस्था हो पा रही है. इलाज में देर होने पर मरीजों की मौत हो रही हैं. अब देवास से लापरवाही का मामला सामने आया है. जहां अमलतास अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती एक युवक ने वीडियो जारी कर सीएम शिवराज सिंह चौहान से मदद की गुहार लगाई है. वीडियो वायरल होने के बाद बीमार प्रशासन हरकत में आया और युवक को इंजेक्शन लग पाए.

युवक का नाम अनिल साहिनी है. वह पिछले 6 दिन से अमलतास अस्पताल के ICU में भर्ती हैं. उनके माता-पिता की पहले ही मौत हो चुकी है. 20 साल की बहन है, जिसकी दोनों किडनी खराब है. पिछले ढाई साल से उसका डायलिसिस हो रहा है. वीडियो में अनिल ने CM शिवराज से कहा, ‘ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहा हूं, कोई ध्यान देने वाला नहीं है. मेरा आखिरी सहारा आप ही हैं. प्लीज मेरी मदद कीजिए मामाजी… मुझे नई जिंदगी दे दो, कम से कम मेरी बहन को अनाथ होने से बचा लो.’

वीडियो में अनिल ने क्या -क्या कहा?
वीडियो में अनिल ने कहा, ‘कोई सुविधा नहीं है मेरे पास, मुझे मेरी बहन को देखना है. स्वस्थ रहना है मुझे, मेरी हेल्प करें, यहां कोई प्रशासन मेरी मदद के लिए तैयार नहीं है, कोई व्यवस्था नहीं है. यहां पर मेरा पता नहीं क्या होगा मामाजी. मुझे कोई देखने वाला भी यहां नहीं है, जैसे-तैसे यहां सब जिंदा हैं. मेरा पता नहीं क्या होगा मामाजी. मेरी बहन को भी आपको ही देखना है. प्लीज मेरी मदद करना.’ 

दोस्त ने बताई पूरी कहानी
अनिल साहनी के दोस्त सौरभ मिश्रा फिलहाल उनकी देखरेख कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि ऑक्सीजन लेवल गिरने पर अनिल को 25 अप्रैल को अमलतास अस्पताल में भर्ती कराया था. CT स्कैन में अनिल को लंग्स में 90% इन्फेक्शन का पता चला. हालात संभालने के लिए अस्पताल में न तो बाइपेप मशीन है और न ऑक्सीजन का फ्लो. अस्पताल ने पहले ही हाथ खड़े कर दिए हैं. अनिल की बहन भी लाचार है. जब कोई सुनने वाला नहीं मिला, तो अनिल ने CM शिवराज सिंह को वीडियो मैसेज भेजा है.

क्यों डरा हुआ है अनिल?
कोरोना कहर के बीच अनिल की मदद के लिए उनका दोस्त सौरभ ही मदद के लिए आगे आया है. सौरभ ने कहा कि रेमडेसिविर के डोज पूरे नहीं हुए हैं. बाइपेप मशीन नहीं मिल रही है. ऑक्सीजन का लेवल भी 74 पर बना हुआ है, जिसके कारण अनिल बेहद डरा हुआ है. 

ये भी पढ़ें: जिस जावेद ने पत्नी के गहने बेचकर ऑटो को बनाया एंबुलेंस, उसी के खिलाफ भोपाल पुलिस ने दर्ज की FIR, ये है वजह

 

WATCH LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.