Corona: आर्मी-एयरफोर्स के बाद अब Navy भी मैदान में उतरी, शुरू किया ऑपरेशन Samudra Setu II


नई दिल्ली: कोरोना (Coronavirus) महामारी के खिलाफ जारी जंग में देश की मदद करने के लिए नौसेना (Indian Navy) भी मैदान में उतर गई है. नौसेना ने मेडिकल सप्लाई को तेज करने के लिए ऑपरेशन समुद्र सेतु-2 (Samudra Setu II) शुरू किया है. 

भारतीय नौसेना ने 7 युद्धपोत तैनात किए

नौसेना (Indian Navy) ने इस ऑपरेशन में अपने 7 युद्धपोत तैनात किए हैं. जो विदेशों से ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर और दूसरी मेडिकल सप्लाई लेकर भारत वापस लौट रहे हैं. इन युद्धपोतों में INS कोलकाता, कोचि, तलवार, तबर, त्रिकंड, जलश्व और ऐरावत शामिल हैं. INS कोलकाता और तलवार को फारस की खाड़ी में भेजा गया है. 

इनमें से INS तलवार बहरीन पहुंचा है, जहां से वह 40 MT लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (LMO) और दूसरी मेडिकल सप्लाई लेकर भारत वापस लौट रहा है.. वहीं INS कोलकाता कतर पहुंचा है, जहां से वह मेडिकल सप्लाई इकट्ठी करेगा. इसके बाद वह लिक्विड ऑक्सीजन टैंक लेने के लिए कुवैत जाएगा. 

INS ऐरावत को सिंगापुर भेजा गया

इसी तरह INS ऐरावत को सिंगापुर रवाना किया गया है. वह वहां से लिक्विड ऑक्सीजन टैंक लेकर आएगा. जबकि INS जलश्व को समुद्र में स्टैंड बाई पोजिशन पर रहने को कहा गया है. जिससे आपात स्थिति में उसकी मदद ली जा सके. 

INS कोचि, त्रिकंड और तबर को अरब सागर में बाकी जहाजों की मदद के लिए तैनात किया गया है. नौसेना (Indian Navy) का INS शार्दुल भी ऑपरेशन में शामिल होने के लिए तैयार है और वह अगले 48 घंटों में मिशन में शामिल हो जाएगा. 

ये भी पढ़ें- भारतीयों की ‘घर वापसी’ के लिए भारतीय नौसेना का ऑपरेशन शुरू, 8 मई को मालदीव से आएगा पहला दल

आधुनिक हथियारों से लैस हैं युद्धपोत

सूत्रों के मुताबिक भारतीय नौसेना (Indian Navy) में क्षमता है कि वह कोरोना (Coronavirus) महामारी के खिलाफ जंग में इससे भी ज्यादा युद्धपोतों को मैदान में उतार सकती है. आधुनिक हथियारों से लैस इन युद्धपोतों में इतनी जगह होती है कि वे मेडिकल सप्लाई और दूसरी आपूर्ति को आसानी से ढ़ो सकते हैं. नौसेना ने पिछले साल इसी तरह का समुद्र सेतु अभियान चलाया था. जिसमें विदेशों में फंसे करीब 4 हजार भारतीयों को युद्धपोतों के जरिए वापस भारत लाया गया था. 

LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.