June 23, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

राजस्थान के सांसदों ने केंद्रीय नेताओं से की मुलाकात, ऑक्सीजन-रेमडेसिवीर की मांग की


Delhi/Jaipur: ऑक्सीजन एवं अन्य दवाइयों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिए राजस्थान के सांसदों ने दिल्ली में डेरा डालना शुरू कर दिया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अपील के बाद अब भाजपा के सांसद भी राजस्थान में कोविड-19 महामारी के वर्तमान कठिन दौर में प्रदेशवासियों के लिए मेडिकल ऑक्सीजन एवं रेमडेसिवीर इंजेक्शन (Remdesivr Injection) की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिए दिल्ली में सक्रिय नजर आने लगे हैं.

अशोक गहलोत की अपील का दिखा असर!
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अपील के बाद चित्तौड़गढ़ सांसद सीपी जोशी, जयपुर सांसद रामचरण बोहरा, भरतपुर सांसद रंजीता कोली ने दिल्ली में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मुलाकात की और उनसे कोविड-19 महामारी का मुकाबला करने के लिए प्रदेश में मेडिकल ऑक्सीजन एवं रेमडेसिवीर इंजेक्शन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए हस्तक्षेप करने की मांग की.

सांसदों ने केंद्रीय नेताओं से की मदद की मांग
वहीं, सांसद रामचरण बोहरा और सीपी जोशी ने सोमवार को दिल्ली में स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से भी मुलाकात कर प्रदेश को मदद करने की मांग की. गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने भी हाल ही प्रदेश के मंत्रियों के एक प्रतिनिधिमंडल को दिल्ली भेजा था.

बिरला-हर्षवर्धन से मिले सासंद
प्रतिनिधि मंडल ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला सहित अन्य केन्द्रीय मंत्रियों से मुलाकात की थी और कुछ केंद्रीय मंत्रियों से वर्चुअल मीटिंग कर प्रदेश में पर्याप्त ऑक्सिजन और अन्य दवाइयां उपलब्ध कराने की मांग की थी. मुलाकात के बाद चित्तौड़गढ़ सांसद सीपी जोशी ने ऑक्सीजन और रेमडेसिवीर इंजेक्शन को लेकर दिल्ली में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) और स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन से मिलकर चर्चा की.

केंद्र कर रहा पर्याप्त सहायता
मुलाकात के बाद सीपी जोशी ने कहा कि केंद्र की ओर से प्रदेश को पर्याप्त सहायता दी जा रही है. जरूरत है कि प्रदेश सरकार उसका मैनेजमेंट सही तरीके से कर के अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति तक राहत पहुंचाने का काम करें. उन्होंने कहा कि हमने केंद्रीय नेताओं से मुलाकात की और प्रदेश की जरूरतों को हमने यहां पहुंचाने का काम किया है. यह दुर्भाग्य की बात है कि पिछले बजट में ही जब ऑक्सीजन प्लांट के लिए फंड स्वीकृत कर दिया गया था और सभी राज्यों को पत्र लिखकर सूचित कर दिया गया था. लेकिन आज तक प्रदेश में ऑक्सीजन प्लांट नहीं लग पाए हैं.

‘गहलोत सरकार गंभीर नहीं’
जोशी ने कहा कि राजस्थान के साथ एक दुर्भाग्य यह भी है कि देश में कोरोना की दूसरी दस्तक और महाराष्ट्र में कोरोना वायरस फैलना शुरू होने के बाद भी प्रदेश सरकार ने इसे गंभीरता से नहीं लिया. मार्च में राजस्थान में 10,000 रेडमीसिविर इंजेक्शन यह कहते हुए पंजाब भेज दिए थे कि हमें इसकी जरूरत नहीं है. जबकि उसके अगले ही दिन प्रदेश में लॉकडाउन लगाना पड़ा था. इसका साफ अर्थ यह है कि या तो सरकार को इसकी गंभीरता का अंदाजा नहीं था या सरकार खुद ही गंभीर नहीं थी.

केंद्र ने बढ़ाया है राजस्थान का कोटा
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने राजस्थान के लिए रेमडेसिवीर इंजेक्शन का कोटा 67,000 से बढ़ाकर 17,0000 इंजेक्शन कर दिया है. अब अगर राजस्थान सरकार उचित प्रबंधन करें तभी यह राहत नीचे जनता तक पहुंच पाएगी. मुख्यमंत्री की ओर से पत्र भेजे जाने पर सीपी जोशी ने कहा कि मुझे मुख्यमंत्री की ओर से कोई पत्र नहीं मिला है और जहां तक बात अपनी जिम्मेदारी निभाने की है तो वह सभी सांसद और विधायक अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभा रहे हैं.

राज्य सरकार को बजाने पड़ेगा मजीरे
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार अपनी गेंद को दूसरे के पाले में डालने की कोशिश कर रही है, उसे उससे बचना चाहिए. केंद्र सरकार लगातार प्रदेश में मदद दे रही है. जिस दिन केंद्र सरकार ने मदद देना बंद कर दिया उस दिन प्रदेश की सरकार को मंजीरे बजाने पड़ेंगे. प्रदेश में जो भी व्यवस्थाएं चल रही हैं, जितनी स्कीम आ रही है, जितनी मदद आ रही है, जो फंड और बजट आ रहा है वह सब केंद्र सरकार की तरफ से आ रहा है.

केंद्र नहीं कर रहा रेमडेसिवीर-ऑक्सीजन देने में भेदभाव
वहीं, जयपुर सांसद रामचंद्र बोरा ने कहा कि केंद्र सरकार से जो संसाधनों सहायता उपलब्ध करवाई जाती है उसका प्रॉपर मैनेजमेंट राज्य सरकार को करना चाहिए. राज्य सरकार के कुप्रबंधन के कारण कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं. सभी राज्यों का ऑक्सीजन और रेमडेसिवीर इंजेक्शन बिना किसी भेदभाव के उपलब्ध करवाई जा रही है.

सांसद समझते हैं अपनी जिम्मेदारी
सांसद बोहरा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने वर्तमान संकट को देखते हुए देश के सभी जिलों में ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Plant) लगाने के लिए पहल की है. अभी राज्यों की जिम्मेदारी है कि यह प्लांट समय रहते सभी जगह लगवाएं. मुख्यमंत्री अपील के सवाल पर बोहरा ने कहा कि सभी सांसद अपनी जिम्मेदारी समझते हैं और समय-समय पर अपने क्षेत्र की समस्याओं के संबंध में केंद्र सरकार का ध्यान आकर्षित करते रहते हैं.





Source link

%d bloggers like this: