June 19, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

गर्लफ्रेंड को ऐश कराने लोगों की जान से खिलवाड़, 40 हजार का इंजेक्शन ढाई लाख में बेचा..फिर खरीदे ये गिफ्ट


इंदौरः महामारी के इस दौर में भी कुछ कालाबाजारी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं. ताजा मामला इंदौर शहर से सामने आया, जहां एक युवक पैसों के लालच में लोगों से रुपए लेकर उनकी जान तक जोखिम में डाल रहा था. युवक ने कोरोना के इलाज में इस्तेमाल होने वाले टोसिलिजुमैब (टोसी) इंजेक्शन में पानी भरकर पीड़ितों को ढाई-ढाई लाख रुपए में बेच दिए.

गर्लफ्रेंड को घुमाने ले जाने वाला था
युवक जैसे-जैसे ठगी कर रहा था, उसके पास रुपए आ रहे थे. रुपए आते ही उसने उन पैसों से फ्रिज, कूलर, अलमारी, मोबाइल यहां तक कि पूरे साल का राशन भी खरीद लिया. यहां तक कि गर्लफ्रेंड के लिए हजारों की शॉपिंग कर ली और उसे कई गिफ्ट भी दे दिए. वह लॉकडाउन खुलते ही उसे लेकर घुमने भी जाने वाला था, लेकिन उससे पहले ही वह पुलिस की गिरफ्त में आ गया.

यह भी देखेंः- बिलासपुर में एल्कोहल वाला सिरप पीने से 7 की चली गई जान, 5 की हालत गंभीर

रासुका के तहत लेंगे एक्शन
मामला उजागर करने पर इंदौर पूर्व के एसपी आशुतोष बागरी ने बताया कि सुरेश यादव नामक युवक को पकड़ा गया है. 29 साल का युवक टोसिलिजुमैब इंजेक्शन में पानी भरकर बेचा करता था, उसके खिलाफ रासुका (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) के तहत कार्रवाई की जाएगी. आरोपी ने माना है कि वह पांच लोगों को दो से ढाई लाख रुपए में इंजेक्शन बेच चुका है.

पीड़ित का नंबर कर दिया ब्लॉक
पुलिस ने बताया कि आरोपी बाणगंगा के लक्ष्मणपुरा गली नंबर-3 का निवासी है. आरोपी के खिलाफ एक शिकायतकर्ता ने बताया कि बदमाश ने उसे ढाई लाख रुपए में टोसी का इंजेक्शन बताकर उसमें पानी भरकर बेच दिया. वह सोशल मीडिया के जरिए आरोपी के संपर्क में आया था, लेकिन वारदात के बाद से उसका फोन नहीं लग रहा.

यह भी देखेंः- ग्वालियर से Positive खबरः स्वस्थ मरीजों का आंकड़ा बढ़ा, शादियों को लेकर अब रहेंगे ये निर्देश

इस तरह लिया हिरासत में
आरोपी को पकड़ने SI प्रियंका शर्मा ने ‘इंदौर स्मार्ट सिटी’ नामक सोशल मीडिया ग्रुप पर टोसी इंजेक्शन की डिमांड की. सुरेश ने उनसे संपर्क किया और कहा कि वह उन्हें इंजेक्शन दे सकता है. कीमत 40 हजार रुपए है, लेकिन ब्लैक में वह ढाई लाख रुपए में बेचेगा. मंगलवार को आरोपी ने SI को विजय नगर में मिलने बुलाया. आरोपी ने प्रियंका से कहा कि वह रुपए राशन की थैली में लाए, अगर पुलिस रोके तो कह देना घर का सामान लेने के लिए बाहर निकले थे.

‘जल्दी से चले जाओ नहीं तो पुलिस आ जाएगी’
आरोपी सुरेश ने प्रियंका से रुपए लिए और कहा जल्दी से चले जाओ नहीं तो पुलिस आ जाएगी. प्रियंका जिस ऑटो में थीं, उसमें जवान भरत ड्राइवर बनकर बैठा था. आरोपी के भागने से पहले ही पुलिस ने उसे पकड़ लिया. उसे पता तक नहीं चला कि वह पुलिस के जाल में ही फंसा है. बताया गया है कि सौदा तय करते वक्त छानबीन कर लेता था कि इंजेक्शन महिला को लगना है या पुरुष को. फिर केवल महिलाओं को ही इंजेक्शन बेचता था.

यह भी देखेंः- छत्तीसगढ़ में आर्थिक रूप से कमजोरों के टीकाकरण पर HC ने लगाई रोक, अभी 18 से 44 वालों को वैक्सीन नहीं

महिला को थमा दी थी वैसलीन
पुलिस ने बताया कि आरोपी ने शिकायतकर्ता महिला को इंजेक्शन के बदले वैक्सीन की डिब्बी थमा दी थी. पुलिस ने सभी पीड़ितों से संपर्क किया, किसी भी ग्राहक को उसने असली इंजेक्शन नहीं दिया. अन्य ग्राहकों ने शिकायत से मना कर दिया, उन्होंने कहा कि वे परेशान हैं, उन्हें अभी और कुछ नहीं करना. पीड़ितों ने कहा कि पुलिस खुद कार्रवाई कर उनका पैसा वापस दिलवाए.

यह भी देखेंः- ग्वालियर में चोरों का आतंक: पिछले 10 दिन में 50 बाइक चुराईं, CCTV में कैद वारदात

WATCH LIVE TV





Source link

%d bloggers like this: