June 23, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

पुरुषों और महिलाओं के शर्ट में अलग-अलग साइड क्यों लगाए जाते हैं बटन, जानिए इसके पीछे का राज


Buttoning Style men Shirts Woman: आपने कभी इस बात पर ध्यान दिया है कि महिलाओं और पुरुषों के शर्ट में लगे बटन अलग-अलग साइड में होते हैं. महिलाओं के शर्ट में बटन बाईं यानी लेफ्ट की तरफ होते हैं, जबकि पुरुषों की शर्ट में दाईं तरफ यानी राइट की तरफ बटन होते हैं. 

अगर आप नहीं जानते तो जानना तो जरूर चाहेंगे कि आखिर ऐसा क्यों होता है?  इस अंतर के पीछे बहुत से तर्क मौजूद हैं. यह बात सालों से हम देखते आ रहे हैं लेकिन बहुत कम लोगों ने इस पर ध्यान दिया होगा कि आखिर इसके पीछे क्या वजह है.

अच्छी नींद चाहिए तो रात में सोने से पहले दूध में मिलाएं एक चम्मच घी, फिर देंखे 7 जबरदस्त फायदे

कई लोगों को इसके पीछे की खास वजह मालूम नहीं हैं. इसके लिए लोगों ने अपने आपसे कई कहानियां गढ़ लीं है और तर्क लगा दिए हैं. जानकारी के लिए आपको नीचे दिये हुए रोचक तथ्‍य जरुर पढ़ने चाहिये-

पहला तथ्य- पुरुष दाएं हाथ में रखते थे तलवार
माना जाता है कि पहले के समय में पुरुष अपने दाएं हाथ में तलवार रखते थे और महिलाएं बाएं हाथ में बच्चे को रखती थी. इसलिए पुरुषों को बटन बंद करने या खोलने के लिए बाएं हाथ का इस्तेमाल करना होता था. इसलिए उनके बटन दाईं तरफ होते हैं. वहीं महिलाओं के मामले में ये बात उल्टी थी इसलिए उनके कपड़े के बटन बाईं तरफ होते हैं.

ओषिधीय गुणों की खान है ‘पान’, स्वाद ही नहीं सेहत के लिए भी हैं इसके बेमिसाल फायदे

दूसरा तथ्य – पता करना में आसानी
महिलाओं और पुरूषों की शर्ट में अंतर करने का ये सबसे सरल और अच्‍छा तरीका है जिसके लिए कोई अतिरिक्‍त लागत नहीं लगती है और आसानी से शर्ट तैयार हो जाती हैं. आसानी से पता चल जाता है कि शर्ट मेल की है या फीमेल की. महिलाओं और पुरुषों के कपड़ों में हल्का सा अंतर बनाने के लिए भी ऐसा किया गया.

तीसरा तथ्य- महिलाएं करती थीं घुड़सवारी
एक तर्क ये भी है कि कहा जाता है कि पुराने जमाने में महिलाएं घोड़े की सवारी करती थीं और लेफ्ट साइड के बटन उनके लिए आसान हो जाते थे, ताकि हवा उनकी शर्ट से न गुजर सके और अंदर का कुछ भी दिखाई न दे. इसके बाद, ये कॉन्सेप्ट बढ़ता गया और मेकर्स ने इसी तरह की शर्ट बनानी शुरू कर दी.

मैरिड लाइफ में नहीं रहा एक्साइटमेंट, तो किचन में मौजूद इन चीजों का करें सेवन फिर देखें कमाल

चौथा तथ्य- उच्च वर्ग की महिलाओं की वजह से बदला ट्रेंड
दुनिया में कपड़ों में बटन लगाने का मॉडर्न सिस्टम महिलाओं द्वारा पहली बार 18वीं शताब्दी के मध्य में शुरू किया गया था. उस दौर में एलीट क्लास की अमीर महिलाएं ही अपने कपड़ों में बटन लगवाती थीं. ये अमीर महिलाएं खुद ही अकेले अपने कपड़े नहीं पहनती थीं, बल्कि उनकी मेड या महिला नौकर कपड़े पहनाती थीं. ऐसे में उनकी नौकरानियों को उन्‍हें लेफ्ट साइट बटन वाले कपड़े पहनाने में आसानी रहती थी. कहने का मतलब यह है कि अगर किसी को कोई दूसरा व्यक्ति कपड़े पहनाने में मदद करें तो उसे बाईं ओर लगे बटनों को बंद करने में ज्यादा आसानी होगी.

पांचवा तथ्य- नेपोलियन से जुड़ा तथ्य
एक और दिलचस्प कहानी है जो ये कहती है कि महिलाओं ने नेपोलियन की स्टाइल सेंस का मजाक उड़ाया था और उसके हाथ हैंड वेस्टकोट स्टाइल में था. दरअसल नेपोलियन हमेशा शर्ट में अपना एक हाथ डालकर रखते थे. महिलाओं ने मजाक बनाया तो उसने आदेश दिया कि महिलाओं की शर्ट में बायीं ओर बटन होंगे. उसके बाद, बायीं ओर बटन एक ट्रेंड बन गया.

चौलाई के फायदे अगर जान गए तो रोज खाएंगे लाल साग, कहते हैं ‘अमरंथ’ वरदान है सेहत का

छठा तथ्य-बच्चों को ब्रेस्टफीडिंग में आसानी
ऐसा माना जाता है कि महिलाएं बाएं ओर अपने बच्‍चों को आसानी से गोद ले लेती हैं और दाएं हाथ को खुला रखती है जिससे वो आसानी से ड्रेस को उतार सकती हैं. साथ ही उन्‍हें ब्रेस्‍टफीडिंग भी करवा सकती हैं. यही चलन में चलता चला गया.

परंपरा कैसे और कब शुरू हुई बता पाना बहुत मुश्किल 
महिलाओं के कपड़ों में बाईं ओर बटन को लेकर ऐसे ही कई और भी लॉजिक बताए जाते हैं, हालांकि इनमें से शुरुआती एक या दो लॉजिक ही ज्यादा प्रैक्टिकल सही नजर आते हैं, लेकिन फिर भी ऐसी परंपरा कैसे और कब शुरू हुई इसे पक्के तौर पर बता पाना बहुत मुश्किल है. पता नहीं क्यों फैशन उद्योग में इस फैशन के ट्रेंड अभी भी जारी हैं. इस तरह अब तक इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है.

OMG! यहां आलू-प्याज के भाव मिलता है काजू, कीमत जानकर रह जाएंगे दंग

WATCH LIVE TV





Source link

%d bloggers like this: