June 20, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

12 मांओं को एक बेटी ने दिया ‘अपना घर’: माता-पिता के कहने पर 20 सालों से कर रही सेवा


भोपालः Mother’s Day Special: 9 मई दुनियाभर में मदर्स डे के रूप में मनाया जाता है. इस बार भी ज्यादातार लोगों के सोशल मीडिया अकाउंट मां के नाम से भेजे गए संदेशों से भरे होंगे. इसी खूबसूरत अवसर पर हम आपको बताने जा रहे हैं मध्य प्रदेश के भोपाल स्थित एक घर के बारे में जहां, 12 मांएं व एक बेटी साथ रहती हैं.

‘अपना घर’ में हैं 12 मांएं व एक बेटी
हम बात कर रहे हैं राजधानी भोपाल में स्थित ‘अपना घर’ की, यह एक वृद्धाश्रम है. यहां अपनों द्वारा छोड़ी गईं 12 मांएं रहती हैं, जिन्हें माधुरी मिश्रा नामक एक बेटी संभालती हैं. नाम से तो यह वृद्धाश्रम है, लेकिन यह एक तीन मंजिल का घर है, जिसका संचालन माधुरी ही करती हैं. वह इसके लिए सरकार से सहायता नहीं लेतीं.

यह भी पढ़ेंः- छत्तीसगढ़ः विपक्ष टीकाकरण पर ऑफलाइन बैठक चाह रहा, CM बोले- मीटिंग वर्चुअल होगी

कोई 20 तो कोई 10 सालों से रह रहा
माधुरी बताती हैं कि यहां उन्होंने उन मांओं को पनाह दी, जिनके बच्चे या तो उनसे दूर है, या अपने माता-पिता को छोड़कर चले गए हैं. कोई पिछले 20 सालों से यहां है तो कोई 8-10 साल पहले ही यहां आया और आकर अपना बन गया. इस लॉकडाउन व कोरोना के संकट काल में, जहां हर कोई निराश है, वहां ये महिलाएं मिलकर एक दूसरे को खुश रखे हुए हैं.

20 सालों से कर रहीं सेवा
माधुरी ने बताया कि माता-पिता के कहने पर वह पिछले 20 सालों से ‘अपना घर’ को चला रही हैं. इसके लिए वह सरकार से सहयोग भी नहीं ले रहीं, उनका कहना है कि शहर में अच्छे लोगों की कमी नहीं है, वो उन्हीं के सहयोग से इन सभी के जीवन को खूबसूरत बनाने में लगी हुई हैं. उन्होंने बताया कि ये सभी घर की अलग-अलग भूमिका निभाती हैं, कुछ इस वक्त बीमार भी हैं, जिनका इलाज जारी है. इन सब के बावजूद सभी मिलजुलकर हंसी-ठिठोली करते हुए अपना जीवन यापन कर रही हैं.

यह भी पढ़ेंः- बेवजह सड़कों पर घूम रहे लोगों की अब खैर नहीं, रतलाम में हुई सुपर 100 गर्ल्स की तैनाती!

यह भी पढ़ेंः- एक तरीका ऐसा भी! कर्फ्यू में बेवजह निकले बाहर तो पुलिस ने मिलवा दिया ‘कोरोना संक्रमित’ से

WATCH LIVE TV





Source link

%d bloggers like this: