June 14, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी राहत! LTC Special Cash Package Scheme के सेटलमेंट की तारीख बढ़ी


नई दिल्ली: LTC Special Cash Package: लाखों केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी राहत की खबर है. जो कर्मचारी सरकार की LTC स्पेशल कैश पैकेज स्कीम का फायदा उठाना चाहते हैं, अब उनके पास 31 मई, 2021 तक मौका है, यानी 31 मई तक वो इस स्कीम के लिए सभी बिलों को जमा कर सकते हैं. पहले ये डेडलाइन 30 अप्रैल 2021 थी. 

फाइनल सेटलमेंट की तारीख बढ़ी

सरकार ने कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए ये तय किया है कि केंद्रीय कर्मचारियों की ओर से दिए गए बिलों को सभी मंत्रालय और विभाग 31 मई 2021 तक स्वीकार और उसका फाइनल सेटलमेंट करेंगे. हालांकि इन बिलों में पेमेंट की तारीख को 31 मार्च 2021 की रखा गया है, यानी खरीदारी 31 मार्च के बाद की नहीं होनी चाहिए, ऐसे बिल स्वीकार नहीं किए जाएंगे.  

ये भी पढ़ें- Petrol Price Today 11 May 2021: 103 रुपये के करीब पहुंचा पेट्रोल का रेट, मई में अबतक 6 बार बढ़े दाम

केंद्रीय कर्मचारियों को राहत

सरकार की ओर से इस ऐलान के बाद उन कर्मचारियों को राहत मिलेगी जिन्हें LTC Special Cash Package Scheme को क्लेम करने के लिए बिल जमा करने थे लेकिन वो समय पर जमा नहीं कर पाए, अब उनके पास एक बार फिर मौका है, वो 31 मई तक बिल्स जमा कर सकते हैं.  

LTC के बदले आई थी स्कीम

आपको बता दें कि पिछले साल महामारी के दौरान जब पूरे देश में लॉकडाउन की स्थिति थी, तब सरकार ने 12 अक्टूबर, 2020 को केंद्रीय कर्मचारियों के लिए महामारी के दौरान LTC (Leave Travel Concession Fare) किराये के बदले एक स्पेशल पैकेज लॉन्च किया था. जिसमें कर्मचारी कई तरह की खरीदारियों को इसमें शामिल कर उसका फायदा उठा सकते थे. ये स्पेशल स्कीम LTC के ब्लॉक 2018-21 के लिए थी. खरीदारी 12 परसेंट और इससे ज्यादा GST की होनी चाहिए और इसके लिए भुगतान ऑनलाइन तरीके से ही होना अनिवार्य था.

क्या थी स्कीम

लीव ट्रैवल कंसेशन यानी LTC के बदले लाई गई स्पेशल कैश पैकेज स्कीम का मकसद सरकारी कर्मचारियों को उनकी 31 मार्च 2021 तक की खरीदारी की भरपाई और उसको बढ़ावा देना था.  LTC कैश वाउचर स्कीम में LTC किराए और लीव एनकैशमेंट के बदले सरकारी कर्मचारियों को एडवांस देने की भी सुविधा थी. इसके लिए सामान की खरीदारी सरकारी कर्मचारी के जीवनसाथी या LTC किराए के लिए योग्य परिवार के किसी सदस्य के नाम पर भी की जा सकती थी. इसमें एक से ज्यादा बिलों को दिया जा सकता था.

LIVE TV





Source link

%d bloggers like this: