June 19, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

China की आबादी में बढ़ोतरी की दर शून्य के करीब पहुंची, अब ड्रैगन को सता रही इस बात की चिंता


बीजिंग: चीन सरकार (China Govt) ने मंगलवार को बताया कि उसके देश की आबादी में बढ़ोतरी की दर शून्य के करीब पहुंच गई है, क्योंकि यहां बच्चों को जन्म देने वाले कपल की संख्या कम है. इसके बाद चीन में काम करने वाले लोगों की संख्या कम हो रही है, क्योंकि देश की आबादी (China Population) में बुजुर्ग लोगों की संख्या काफी अधिक है.

शून्य के करीब पहुंची आबादी में बढ़ोतरी की दर

चीन (China) के राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो ने बताया कि 2020 में समाप्त हुए दशक में देश की जनसंख्या सात करोड़ 20 लाख बढ़कर 1.411 अरब हो गई और आबादी में वार्षिक वृद्धि की औसत दर 0.53 प्रतिशत है, जो कि इससे पहले के दशक से कम हुई है.

चीन को अब सता रही है इस बात की चिंता

चीन के नेताओं ने जनसंख्या को बढ़ने से रोकने के लिए 1980 से जन्म संबंधी सीमाएं लागू की थीं, लेकिन अब उन्हें इस बात की चिंता है कि देश में कामकाजी आयु वर्ग के लोगों की संख्या तेजी से कम हो रही है और इसके कारण समृद्ध अर्थव्यवस्था बनाने के प्रयास बाधित हो रहे हैं.

ये भी पढ़ें- Corona को Biological Weapons के तौर पर इस्तेमाल करने को China ने बताया बकवास, America पर साधा निशाना

बच्चों को जन्म देने से कतरा रहे हैं चीनी कपल

चीनी सरकार ने पिछले कुछ सालों में जन्म संबंधी सीमाओं में ढील दे दी है, लेकिन इसके बावजूद आबादी की बढ़ोतरी दर नहीं बढ़ रही है. चीनी कपल महंगाई, छोटे आवास और मांओं के साथ नौकरी में होने वाले भेदभाव के कारण बच्चों को जन्म देने से कतराते हैं.

लाइव टीवी





Source link

%d bloggers like this: