June 19, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

India से Cow Dung लेकर America पहुंचा यात्री, जांच के बाद Airport पर ही छोड़कर चला गया बैग


वॉशिंगटन: भारत (India) से अमेरिका (America) पहुंचे एक शख्स के बैग से कुछ ऐसा बरामद हुआ, जिसे देखकर कुछ देर के लिए एयरपोर्ट पर मौजूद सुरक्षाकर्मी हैरान हो गए. जांच पड़ताल और पूछताछ के बाद भारतीय को जाने दिया गया, लेकिन उसके बैग में मौजूद ‘हैरान करने वाली वस्तु’ को नष्ट कर दिया गया. अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि भारतीय यात्री अपने साथ जो लाया था, जिससे गंभीर बीमारी का खतरा रहता है. इसलिए उसे नष्ट करना पड़ा.  

Officers ने नष्ट किए उपले

अमेरिकी सीमा शुल्क एवं सीमा सुरक्षा (CBP) ने बताया कि भारत से अमेरिका आए एक व्यक्ति के बैग से गोबर से बने उपले (Cow Dung) बरामद हुए थे. जांच पड़ताल के बाद भारतीय यात्री (Indian Passenger) उपले वाले बैग को हवाईअड्डे पर ही छोड़कर चला गया था, बाद उपलों को नष्ट कर दिया गया. अधिकारियों ने बताया कि अमेरिका में उपलों पर प्रतिबंध है, क्योंकि इससे अत्यधिक संक्रामक खुरपका-मुंहपका रोग (Foot & Mouth Disease) का खतरा रहता है.

ये भी पढ़ें -यहां होती है मरे हुए लोगों से शादी, मंगेतर की तस्वीर के साथ यूं होती है रस्म

4 April को आया था US

CBP के अनुसार, जिस सूटकेस से उपले बरामद हुए वह चार अप्रैल को एयर इंडिया के विमान से लौटै एक भारतीय यात्री का है. सीबीपी के बाल्टीमोर फील्ड ऑफिस के फील्ड ऑपरेशंस कार्यवाहक निदेशक कीथ फलेमिंग ने बताया कि खुरपका-मुंहपका रोग जानवरों को होने वाली बीमारी है, जिससे पशुओं के मालिक सबसे ज्यादा डरते हैं और यह सीमा शुल्क एवं सीमा सुरक्षा के कृषि सुरक्षा अभियान के लिए भी एक खतरा है.

इसलिए लगाया गया है Ban

विभाग द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि उपलों को दुनिया के कुछ हिस्सों में एक महत्वपूर्ण ऊर्जा और खाना पकाने का स्रोत भी कहा गया है. इसका इस्तेमाल कथित तौर पर स्किन डिटॉक्सीफायर, एक रोगाणुरोधी और उर्वरक के रूप में भी किया जाता है, लेकिन इन कथित फायदों के बावजूद खुरपका-मुंहपका रोग के खतरे के कारण भारत से यहां उपले लाना प्रतिबंधित है.

दुनिया के लिए चिंता का विषय

अमेरिकी कृषि विभाग के अनुसार, फुट एंड माउथ डिजीज दुनियाभर में चिंता का विषय है क्योंकि यह व्यापक रूप से और तेजी से फैल सकता है और पशुधन आबादी को महत्वपूर्ण आर्थिक नुकसान का कारण बनता है. इसी को ध्यान में रखते हुए अमेरिका इस मामले में बेहद सख्त है. दूसरे देशोंस इ यहां उपले लाने पर रोक लगाई गई है.

 





Source link

%d bloggers like this: