June 18, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

टीका की खरीद के लिए गहलोत सरकार निकालेगी ग्लोबल टेंडर, नर्सिंग कर्मियों के पदनाम बदलने को मंजूरी


Jaipur: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में हुई मंत्री परिषद की बैठक में विदेशों से वैक्सीन खरीदने के लिए संपर्क करें, नर्सिंग कर्मियों की मांग के अनुरूप पदनाम परिवर्तन करने सहित कई अहम फैसले हुए. खासतौर पर विदेशों से वैक्सीन खरीदने से जुड़ा अहम निर्णय लिया गया.

ग्लोबल टेंडर को मिली मंजूरी
बैठक में फैसला किया गया कि 18 से 45 साल के लोगों के वैक्सीनेशन के लिए देश में पर्याप्त वैक्सीनेशन नहीं मिलने पर अब गहलोत सरकार इसे विदेशों से आयात करेगी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में बुधवार शाम को हुई कैबिनेट की वर्चुअल बैठक में कोरोना वैक्सीन आयात करने के लिए ग्लोबल टेंडर की मंजूरी दी गई.

ये भी पढ़ें-Rajasthan Corona Update: 16,384 नए मामले आए सामने, 164 मरीजों की हुई मौत

 

वैक्सीन के लिए निकालेगी ग्लोबल टेंडर
इसके तहत अब वैक्सीन खरीदने के लिए जल्द सरकार ग्लोबल टेंडर जारी करेगी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दो दिन पहले ही स्वास्थ्य विभाग और कोर ग्रुप के अफसरों को कोरोना वैक्सीन के विदेशों से आयात की तैयारी शुरू करने के आदेश दिए थे.

फाइजर-स्पुतनिक के संपर्क में सरकार
मुख्यमंत्री के आदेशों के बाद से ही स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने कवायद शुरू कर दी थी. फिलहाल अमेरिका की फाइजर और रूस की स्पुतनिक वैक्सीन के आयात के लिए राजस्थान सरकार के अफसर अमेरिका और रूस की कंपनियों से संपर्क कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें-निजी अस्पतालों को किराए पर वेंटिलेटर देने पर HC सख्त, केंद्र-राज्य सरकार से मांगा जवाब

 

केंद्र पर ट्वीट कर साधा निशाना
यूपी सहित कई राज्य वैक्सीन आयात के लिए ग्लोबल टेंडर करने का फैसला कर चुके हैं. मंत्री परिषद की बैठक से पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर केंद्र सरकार पर निशाना भी साधा. गहलोत ने ट्वीट कर लिखा, ‘देश में कोविड वैक्सीन की कमी के कारण कई प्रदेश दूसरे देशों से वैक्सीन लेने के लिए ग्लोबल टेंडर निकाल रहे हैं. बेहतर यह होता कि केंद्र सरकार ग्लोबल टेंडर निकालकर वैक्सीन खरीदती और राज्यों में वितरण करती. बाद में इसका भुगतान राज्य सरकारों से ले लेती.’

वैक्सीन फ्री करने की दोहराई मांग
उन्होंने कहा, ‘हालांकि देशवासियों की मांग है कि अन्य टीकों की तरह इस घातक महामारी का टीका केन्द्र सरकार द्वारा पूरी तरह मुफ्त उपलब्ध करवाया जाए. इससे वन स्टॉप प्रक्योरमेंट की व्यवस्था बनती जो सभी राज्यों के लिए बेहतर होती.’ बैठक में इसके अलावा नर्सिंग डे के अवसर पर नर्सिंग कर्मियों के पदनाम बदलने को भी मंजूरी दी गई.

Nursing Day पर नर्सों को मिला तोहफा
प्रदेश के 50 हजार नर्सिंग कर्मियों को पदनाम बदलने का तोहफा देने पर एसोसिएशन की तरफ से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा का आभार व्यक्त किया गया है. राजस्थान नर्सेज यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष देवाराम चौधरी ने बताया की कोरोना काल में नर्सेज ढाल बनकर काम कर रहे है जो लंबे समय से अपने सम्मान के लिए बिना वित्तीय भार की मांग केंद्र के अनुरूप नर्स ग्रेड द्वितीय को नर्सिंग ऑफिसर तथा नर्स ग्रेड प्रथम को सीनियर नर्सिंग ऑफिसर की मांग कर रहे थे.

ये भी पढ़ें-Covid की तीसरी लहर की रोकथाम के लिए सर्वदलीय बैठक आयोजित, Task फोर्स बनाने के निर्देश

 

उन्होंने कहा कि कोविड़ को देखते हुए अपनी मांग को ट्वीटर के माध्यम से ‘हैशटेग’ अभियान चला रहे थे. आज नर्सेज दिवस (International Nursing Day) पर सरकार ने नर्सेज के पदनाम परिवर्तन की मोहर लगाई है जिस से प्रदेश भर के नर्सेज उत्साहित है.





Source link

%d bloggers like this: