June 20, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

तेजस्वी की CM नीतीश को ‘चुनौती’, कहा-शाम तक RJD कोविड सेंटर पर रूख साफ करे सरकार


Patna: तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) के आवास पर बना RJD कोविड केयर सेंटर (Covid Care Center) को लेकर बिहार की सियासत गर्म हो गई है. इस कोविड केअर सेंटर का इस्तेमाल तेजस्वी तब तक नहीं कर सकते जब तक नीतीश (Nitish Kumar) सरकार अनुमति नहीं देती. तेजस्वी ने इस बाबत पर मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री को पत्र भी लिखा है. लेकिन गुरुवार को तेजस्वी ने सरकार को चेतावनी दी कि नीतीश सरकार या तो खुद कोविड केयर सेंटर चलाएं या उन्हें चलाने की अनुमति दें. तेजस्वी ने सरकार के फैसले का इंतजार आज शाम तक करने की चेतावनी दी है. उसके बाद तेजस्वी अकेले ही इसका फैसला लेंगे.

ये भी पढ़ेंः तेजस्वी ने नीतीश से कोरोना पीड़ितों के लिए मांगी मदद की अनुमति,कहा-उम्मीद है इस बार आप देंगे जवाब

RJD के सहयोग पर राजनीति नहीं करने की सलाह
गुरुवार को तेजस्वी ने एक बार फिर फेसबुक लाइव के जरिए बिहार की जनता के साथ संवाद किया. तेजस्वी ने अपने सरकारी आवास पर बनाए गए कोविड सेंटर को लेकर सत्ता पक्ष के नेताओं द्वारा की जा रही बयानबाजी पर नाराजगी जाहिर की. तेजस्वी यादव ने कहा कि उन्होंने कोविड सेंटर लोगों की सहायता के लिए तैयार किया है. सरकार से यह अनुरोध भी किया है कि वह इसे टेक ओवर करे और यहां कोरोना मरीजों का इलाज उन्हें करने दें और जो भी कमी होगी उसे बताएं वह उसे पूरा करेंगे. लेकिन सत्ता पक्ष  के नेताओं ने इस पर नकारात्मक राजनीति शुरू कर दी. फेसबुक लाइव के दौरान तेजस्वी के निशाने पर बिहार के स्वास्थ्य मंत्री और पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी भी रहे.

सुशील मोदी पर भी साधा निशाना
सुशील मोदी के ट्वीट से नाराज तेजस्वी ने इशारो में कहा कि कुछ लोग टीटीएम में लगे हैं. नीतीश कुमार जो स्क्रिप्ट भेजते हैं वही पढ़ते हैं और हमेशा मुझे गाली देते रहते हैं. कुछ करो उसमें भी उन्हें परेशानी होती है और कुछ न करो तो उसमें भी परेशानी होती है.

ये भी पढ़ेंः तेजस्वी के पत्र पर मचा सियासी बवाल, NDA ने लगाया आरोप, कहा- संक्रमण घटते ही नाटक शुरू!

बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था पर तेजस्वी ने बोला हमला
तेजस्वी ने कहा कि ‘मैंने एक महीने तक सरकार को काम करने का वक्त दिया. लेकिन व्यवस्थाएं ठीक नहीं हुई तब आगे आकर मदद की अपील कर रहा हूँ. यहां के हॉस्पिटल में वेंटिलेटर पड़े हुए हैं लेकिन उन्हें कोई चलाने वाला नहीं है. हम लोगों के विरोध प्रदर्शन के बाद कुछ वेंटिलेटर की व्यवस्था जरूर हुई थी. लेकिन उसका भी इस्तेमाल नहीं हुआ. अस्पतालों में न तो वेंटिलेटर चलने वाले हैं और न ही डॉक्टर-नर्स की व्यवस्था है. हम लगातार पदों को भरने की मांग करते रहे हैं. पर कहते-कहते हमारा गला फट गया. सरकार एक साल से क्या कर रही है. एक साल में तो हर जिले में कोविड डेडिकेटद हॉस्पिटल खड़े हो जाते. दरभंगा का अस्पताल जर्जर है. सभी जिलों के सदर अस्पताल के हालात खराब हैं. हॉस्पिटल में कुत्ते रहते हैं और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री कहते हैं काफी बेहतर व्यवस्था दे रहे हैं.’

सिर्फ तेजस्वी के घर तक नहीं सिमटेगा कोविड केयर सेंटर
तेजस्वी यादव ने कहा कि ‘मैंने सरकार से अनुरोध किया है कि कोविड सेंटर को टेक ओवर करें. लेकिन स्वास्थ्य मंत्री यह कहते हैं कि बिना स्वीकृति के कोई भी सरकार आवास में अस्पताल शुरू नहीं कर सकती है. सरकार ने अभी तक इस पर कोई फैसला नहीं लिया है कि वह इसे टेकओवर करेगी या नहीं. मुझे सरकार के फैसले का इंतजार है. सिर्फ मेरे ही आवास में कोविड केयर सेंटर नहीं चलेगा बल्कि सभी जिलों में RJD के विधायक पूर्व विधायक प्रत्याशी नेता कार्यकर्ता कोविड केअर सेंटर चलाएंगे.’

सरकार से किसी पत्र का जवाब नहीं मिलने से आहत तेजस्वी
तेजस्वी ने दो दिन पहले सीएम नीतीश कुमार को लिखे पत्र का भी जिक्र किया. इसमें उन्होंने बिहार के सभी जिलों के अस्पतालों में दौरा करने की अनुमति मांगी थी. लेकिन 48 घंटे बाद भी सीएम नीतीश कुमार ने इस पर कोई निर्णय नहीं लिया है. जब-जब उन्होंने कोरोना काल मे कुछ करने की कोशिश की है. सरकार ने उन पर FIR करा दिया. वहीं, उन्होंने कहा कि यहां टेस्टिंग की व्यवस्था नहीं हो रही है. देश मे दवा की किल्लत है और दवा को विदेश भेज दिया गया.  नीतीश कुमार बताएं दवा विदेश भेजे जाने के मसले को क्या वो सही मानते हैं.

बिना सरकारी मदद कैसे चलेगा RJD का सेंटर
तेजस्वी ने कहा कि ‘शाम तक सरकार मुझे बता दें कि वह कोविड सेंटर को लेकर क्या करना चाहती है? अगर सरकार इसे हमे चलाने देना चाहती है तो मंजूरी दे. हमारे पास RJD चिकित्सा प्रकोष्ठ के डॉक्टरों की पूरी टीम है. जो इस काम को कर सकती है. हम अपनी विचारधारा वाले डॉक्टरों की सहायता से इसे शुरू करेंगे.’





Source link

%d bloggers like this: