June 18, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

Corona मरीजों को हो सकती है Diabetes, ICMR ने बताया ये कारण


नई दिल्ली: देश में मेडिकल रिसर्च पर काम करने वाली सबसे बड़ी सरकारी संस्था Indian Council of Medical Research (ICMR) ने कोरोना पर बड़ी चेतावनी जारी की है. ICMR का कहना है कि कोरोनावायरस की बीमारी डायबिटीज (Diabetes) भी दे सकती है. 

शुगर बढ़ा रहा है कोरोनावायरस

ICMR के हेड डॉ बलराम भार्गव ने कहा कि कोरोना महामारी शुगर बढ़ाती है. ऐसे में कोरोना महामारी (Coronavirus) मरीजों को नई डायबिटीज (Diabetes) भी दे सकती है. उन्होंने कहा कि 2DG की दवा कोरोना के हल्के और मध्यम स्तर के रोगियों के लिए ठीक है. कोरोना के क्रिटिकल मरीजों के लिए यह दवा ठीक नहीं है. 

ICMR के हेड डॉ बलराम भार्गव ने कहा कि एक संक्रमित व्यक्ति 1 महीने में 406 लोगों को इंफेक्शन फैला सकता है. उन्होंने कहा कि परिस्थिति में सुधार हो रहा है लेकिन अभी भी बहुत अलर्ट रहने की जरूरत है. फिलहाल देश में टेस्टिंग लगातार बढ़ाए रखने की जरूरत है. अगले महीने तक देश प्रतिदिन 45 लाख लोगों को टेस्ट करने की क्षमता को हासिल कर लेगा. 

नमी में विकसित होता है फंगल

उन्होंने कहा कि फंगल इन्फेक्शन नमी में विकसित होता है. यदि किसी में इम्युनिटी पावर कम है तो यह फंगस ग्रो करेगा. इसीलिए कोविड मरीजो में ये समस्या आ रही है. डायबिटीज के रोगियों में इम्युनिटी औरों के मुकाबले में कम होती है. इसलिए यह प्रॉब्लम उनमें ज्यादा देखी जा रही है. 

वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) ने कहा कि देश में पिछले दिनों से कोरोना महामारी (Coronavirus) के एक्टिव मामलों में कमी आई है. फिलहाल देश के कुल सक्रिय मामलों में से 69 फीसदी केस 8 राज्य में हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि हम टेस्टिंग लगातार बढ़ा रहे हैं. देश में पिछले दो दिनों से 20 लाख से ज्यादा टेस्ट कर रहे हैं. जिला स्तर पर कंटेनमेंट जोन बनाने की रणनीति का असर दिख रहा है. 

8 राज्यों में 1-1 लाख से ज्यादा केस

उन्होंने कहा कि देश में 8 राज्य ऐसे हैं, जिनमें अब भी 1 लाख से ज्यादा सक्रिय केस हैं. देश में 430 जिले है ऐसे हैं, जहां अब भी रोजाना कोरोना (Coronavirus) के 100 से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं. ऐसे में एक दिन की भी ढिलाई हमें भारी पड़ सकती है.

ये भी पढ़ें- Corona: Kashmir में अब नहीं होगी ‘सांसों की किल्लत’, सेना ने रिकॉर्ड 4 दिनों में शुरू किया Oxygen Plant

संयुक्त सचिव ने कहा कि देश में 89 जिले ऐसे हैं, जहां मामले कम हो रहे हैं लेकिन पॉजिटिविटी रेट थोड़ा बढ़ रहा है. इसके लिए पीएम ने 11 जिलो के अधिकारियों और सीएम के साथ बैठक की है. उन्होंने सभी को संवेदनशीलता से काम करने की बात कही और आत्मविश्वास बढ़ाने की सलाह दी. 

वैक्सीन वेस्टेज कम की जाए- पीएम

स्वास्थ्य सचिव के मुताबिक ग्रामीण इलाकों में पंचायती राज, एनजीओ के साथ मेरा गांव कोरोना मुक्त है स्लोगन के साथ काम करने की सलाह दी. वैक्सीन वेस्टेज कम करने की बात भी पीएम ने कही है. 

उन्होंने कहा कि NEGVAC ने कुछ सिफारिश की हैं, जिन्हें माना गया है. अगर किसी को कोरोना (Coronavirus) हुआ है तो वह 3 महीने बाद ही टीका लगवाए. स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी वैक्सीन लगवाने की सलाह दी गई है.

LIVE TV





Source link

%d bloggers like this: