June 19, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

दिल्ली: कम होने लगा कोरोना का कहर, दो महीने बाद अस्पताल में भर्ती होने वालों से ज्यादा हो रहे डिस्चार्ज


नई दिल्ली: दिल्ली में बीते दिनों कोरोना वायरस ने जमकर कहर बरपाया. अस्पतालों में मरीजों की तो श्मशान के बाहर लाशों की लंबी कतारें लगी रहतीं. कोरोना का खतरा अब भी टला नहीं है लेकिन हालात धीरे-धीरे सुधर रहे हैं. राजधानी में कोरोना के नए मामलों में कमी आ रही है साथ ही मृतकों की संख्या भी घट रही है. 

कोरोना को मात देकर घर लौट रहे लोग

इस बीच सबसे सुकून की बात ये है कि करीब दो महीने में पहली बार, एक दिन में अस्पताल में भर्ती होने वालों से ज्यादा अस्पताल से छुट्टी पाने वालों की संख्या है. शुक्रवार को कोरोना को मात देकर अस्पताल से छुट्टी पाने वाले मरीजों की संख्या, अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों से अधिक रही.

ये भी पढ़ें- इस राज्य में 7 जून तक बढ़ाया गया Lockdown, CM ने किया ऐलान

कोरोना के नए मरीजों की संख्या में कमी आई

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, 14 मई से अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की तुलना में अस्पताल से छुट्टी पाने वाले मरीजों की संख्या ज्यादा है. अधिकारियों के मुताबिक, संक्रमण के मामलों में कमी की वजह से अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में कमी आई है.

आंकड़ों की मानें तो, 16 मई से अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या एक हजार से कम है. 29 अप्रैल को एक दिन में 1993 मरीजों को अस्पताल में भर्ती किया गया था.

दो महीने में पहली बार ऐसा हुआ

यह करीब दो महीने में पहली बार है कि अस्पताल में भर्ती होने वालों की तुलना में कोविड से ठीक होकर अस्पताल से छुट्टी पाने वालों की संख्या ज्यादा है. आंकड़ों के मुताबिक, एक से पांच अप्रैल के बीच जब दैनिक मामले पांच हजार से कम थे तब दैनिक आधार पर अस्पताल से छुट्टी पाने वालों की तुलना में भर्ती होने वालों की संख्या ज्यादा थी.

यहां से सुधरने लगे हालात

आंकड़ों के अनुसार, 14 मई को कोविड के 1256 मरीजों को अस्पतालों में भर्ती किया गया जबकि 1331 को अस्पतालों से छुट्टी दी गई. दिल्ली में 20 मई को अस्पताल में 560 मरीजों को भर्ती किया गया जबकि 978 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दी गई. अगले दिन 1052 मरीज अस्पताल में दाखिल हुए जबकि 1379 को अस्पताल से छुट्टी दी गई.

दिल्ली में शुक्रवार को कोरोना वायरस के 3231 नए मामले आए जो पांच अप्रैल के बाद सबसे कम हैं जब 3548 नए मरीजों की पुष्टि हुई थी.





Source link

%d bloggers like this: