June 19, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

तिरंगे में लिपट कर घर आया शहीद अभिनव, पिता ने उसकी फेवरेट टी-शर्ट पहन कर दी आखिरी सलामी


मेरठ: बीते शुक्रवार भारतीय वायुसेना के फाइटर प्लेन मिग-21 क्रैश में शहीद हुए मेरठ के लाल स्क्वॉड्रन लीडर अभिनव चौधरी का पार्थिव शरीर उनके घर लाया गया. मेरठ के घर में अभिनव के पिता सत्येंद्र चौधरी ने उन्हें आखिरी सलामी दी. इस दौरान उन्होंने वह टी-शर्ट पहनी, जो अभिनव की फेवरेट थी. उसके मिलिट्री कॉलेज की टी-शर्ट.

एक दिन में 3 लाख से ज्यादा कोरोना टेस्ट करने वाला पहला राज्य बना UP, एक्टिव केस भी कम

पत्नी सोनिका का रो-रोकर बुरा हाल
मोगा, पंजाब से शहीद अभिनव तिरंगे में लिपटकर मेरठ आया. शहीद के शव के साथ उनकी पत्नी सोनिका भी गंगानगर कॉलोनी में अफने घर पहुंचीं. उन्हें अधिकारियों द्वारा एक अलग गाड़ी में लाया गया. बताया जा रहा है कि अभिनव की पत्नी सोनिका का रो-रो कर बुरा हाल है. सोनिका को अभिनव की मां और बहन संभाल रहे हैं. बता दें, सोनिका और अभिनव की शादी 25 दिसंबर 2019 को हुई थी. 

कोरोना जांच के लिए योगी सरकार ने तय किए CT Scan के नए रेट, ज्यादा पैसे लेने पर होगी कार्रवाई

मां की हालत देख सबकी आंखें नम
शहीद अभिनव चौधरी के घर पर मातम पसरा हुआ है. घर के चिराग को तिरंगे में लिपटा देख मां सत्य चौधरी टूट चुकी हैं. अभिनव के पार्थिव शरीर को देखकर वह बेसुध हो गई हैं. मां अभी भी उम्मीद में थीं कि शायद उनका बेटा उठकर यह बोल देगा कि मां मैं ठीक हूं चिंता मत करो. उनकी यह हालत देख सबकी आंख में आंसू आ गए. 

फर्जी पते पर आर्म्स लाइसेंस मामले में मुख्तार अंसारी की हुई पेशी, बांदा जेल पर लगाए गंभीर आरोप

 

कभी नहीं सोचा था अपने बेटे को कंधा देना पड़ेगा- अभिनव के पिता
अभिनव के पिता सतेंद्र चौधरी रोज शाम अपने बेटे की कॉल का इंतजार करते थे. हर शाम अभिनव उन्हें फोन कर अपने ठीक होने की जानकारी देता था. सतेंद्र भी इस बात से संतुष्ट थे कि उन्हें रोजाना अपने बेटे की आवाज सुनने को मिल जाती थी. अब उनका कहना है कि कभी सोचा भी नहीं था कि उन्हें उनका कंधा बनने वाले बेटो को उन्हें ही कंधा देना पड़ेगा. उन्होंने कहा कि अब रोज फोन कर के कौन बताएगा कि पापा मैं ठीक हूं…

WATCH LIVE TV





Source link

%d bloggers like this: