June 19, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

PM मोदी व CM योगी से मिले पूर्व IAS एके शर्मा, मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें फिर शुरू


लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर फिर अटकलें लगनी शुरू हो गई हैं. कोरोना की दूसरी लहर पर नियंत्रण के मामले में ‘वाराणसी मॉडल’ की तारीफ होने के 24 घंटे के भीतर यूपी विधानपरिषद सदस्य एवं पूर्व आईएएस अ​रविंद कुमार शर्मा पीएम नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिल चुके हैं. ऐसा माना जा रहा है कि एके शर्मा को योगी कैबिनेट में जल्द ही शामिल किया जा सकता है. 

UP टेस्टिंग और रिकवरी में No.1 है, हमने कोरोना महामारी का जमकर मुकाबला किया: CM योगी

पीएम मोदी और सीएम योगी से हुई एके शर्मा की मुलाकात
आपको बता दें कि योगी मंत्रिमंडल में पहले से ही कई स्थान खाली हैं. जब एके शर्मा स्वेच्छा से रिटायरमेंट लेने के बाद भाजपा के एमलसी बने तभी से उनके योगी मंत्रिमंडल में शामिल होने की चर्चा शुरू हो गई थी. लेकिन पंचायत चुनाव और फिर कोविड की दूसरी लहर ने इस इंतजार को थोड़ा लंबा खींच दिया. पंचायत चुनाव में सपा के मुकाबले बीजेपी के पिछड़ने और कोरोना महामारी के दौरान प्रशासकीय कार्यप्रणाली ने पार्टी संगठन से और सरकार के स्तर पर खामियां सामने ला दी हैं.

विदेश में फंसे गोरखपुर के 150 कामगार, मदद को आगे आए MP रवि किशन, बोले- जल्द होगी वतन वापसी

यूपी चुनाव से पहले खामियां दुरुस्त करने की कोशिश तेज
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में एक वर्ष से भी कम का समय बचा है. यूपी केंद्र में मोदी सरकार के लिहाज से भी बड़ा महत्वपूर्ण है. प्रशासनिक से लेकर सियासी खामियों को दुरुस्त करने के लिए इससे बेहतर वक्त नहीं हो सकता है. पीएम मोदी ने कोविड संक्रमण के नियंत्रण को लेकर काशी मॉडल की जमकर तारीफ की है. उन्होंने कहा कि काशी मॉडल न सिर्फ यूपी बल्कि पूरे देश में रोल मॉडल के रूप में देखा जा रहा है. इस काशी मॉडल को साकार करने के पीछे एके शर्मा का ही योगदान है.

ALERT: ताउते के बाद यास चक्रवात UP में कराएगा बारिश, दो दिन तेज आंधी चलने की संभावना

सफल वाराणसी मॉडल के पीछे एके शर्मा का हाथ ही है
वाराणसी व पूर्वांचल में कोविड नियंत्रण से जुड़ी रणनीति बनाने व उसके क्रियान्वयन का नेतृत्व एमएलसी एके शर्मा कर रहे हैं. स्थिति बिगड़ने पर पीएम मोदी ने उन्हें यह जिम्मेदारी सौंपी थी. एके शर्मा ने बीते शुक्रवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. दूसरे दिन वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने लखनऊ पहुंचे. यहां सीएम योगी के अलावा कुछ चुनिंदा नौकरशाहों से भी उनकी मुलाकात हुई. इसी के बाद अटकलों का दौर निकल पड़ा है.

UP के प्राइवेट स्कूलों का बड़ा फैसला, कोरोना की वजह से अनाथ हुए बच्चों की शिक्षा का उठाएंगे बीड़ा

पीएम मोदी के बेहद करीबी रहे हैं पूर्व आईएएस एके शर्मा
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अरविंद कुमार शर्मा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफी भरोसेमंद हैं. जब वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे उस वक्त से एके शर्मा उनके साथ हैं. मोदी जब प्रधानमंत्री बनने के बाद दिल्ली आए तो एके शर्मा को पीएमओ लेकर आए. वह काशी मॉडल के जरिए अपनी छाप छोड़ने में सफल रहे हैं. चेतन चौहान, कमल रानी वरुण और विजय कुमार कश्यप की मृत्यु से कैबिनेट में जगहें भी खाली हैं. ऐसे में योगी कैबिनेट का विस्तार होना स्वभाविक लग रहा है.

WATCH LIVE TV





Source link

%d bloggers like this: