June 20, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

मंत्री संजय झा ने अधिकारियों को दिया निर्देश, कहा-लॉकडाउन में कोई भी भूखा ना सोए


Madhepura: कोरोना काल में बिहार जल संसाधन एवं सूचना प्रसारण मंत्री सह मधेपुरा जिले के प्रभारी मंत्री संजय कुमार झा ने जिले में कोरोना एवं बाढ़ से सुरक्षा के प्रबंधों को लेकर वर्चुअल कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान उन्होंने कई जरूरी दिशा निर्देश भी दिए. 

इस दौरान उन्होंने कहा कि मधेपुरा में जननायक कर्पूरी ठाकुर के नाम पर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल की स्थापना कोसी क्षेत्र के विकास के प्रति मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विशेष लगाव के कारण संभव हो सका है. इस अस्पताल में उत्कृष्ट चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना मुख्यमंत्री की प्राथमिकताओं में शामिल है इसलिए इस अस्पताल में यदि कुछ कमियां हैं, तो जिला पदाधिकारी उनकी सूची बना कर भेजें.

उन्होंने आगे कहा कि सरकार के स्तर से उसे प्राथमिकता के आधार पर दूर कराया जाएगा. साथ ही इस मेडिकल कॉलेज में स्थापित हो रहे ऑक्सीजन प्लांट का एक तय समय सीमा में शुरू होना सुनिश्चित करें. इस बैठक में जिलाधिकारी के अलावा जिले के सांसद, विधायक एवं विधान पार्षद भी जुड़े हुए थे. 

उन्होंने जिला प्रशासन को निर्देश दिया कि होम आइसोलेशन के मरीजों को फोन पर एक्सपर्ट चिकित्सकों की सलाह नियमित रूप से मिले. कोरोना की संभावित तीसरी लहर से सुरक्षा के लिए ज्यादा-से-ज्यादा लोगों का टीकाकरण जरूरी है. टीकाकरण को लेकर कुछ लोग समाज में भ्रांतियां भी फैला रहे हैं, ऐसे में जिला प्रशासन को चाहिए कि इस संबंध में भी लोगों को सावधान एवं जागरूक करे. 

सामूहिक समारोह को लेकर उन्होंने कहा कि शादी-विवाह जैसे सामाजिक आयोजनों में अलग-अलग स्थानों के लोगों के एक जगह जुटने से कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा बना रहता है. इस खतरे से बचने के लिए ही मुख्यमंत्री ने सार्वजनिक अपील की है कि लोग ऐसे आयोजनों को कुछ समय के लिए स्थगित कर दें. उन्होंने जिला प्रशासन और जिले के सभी जनप्रतिनिधियों से आह्वान किया कि वे भी जिले में इस संबंध में लोगों को जागरूक करें. 

ये भी पढ़ें- राखी बंधी हुई तस्वीर साझा कर ‘खान सर’ को लोग बता रहे हिंदू, जानिए इस टीचर संग क्यों जुड़ा विवाद

कोरोना में गरीबों के भोजन को लकर उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि लॉकडाउन में कोई भी भूखा न सोये इसलिए सामुदायिक रसोई की व्यवस्था पर जिला प्रशासन नियमित नजर रखे. इस दौरान कहीं और भी इसकी जरूरत हो तो उसकी व्यवस्था करे. 

जल संसाधन मंत्री ने कहा कि आगामी मॉनसून सीजन में बाढ़ से लोगों की सुरक्षा और जान-माल के नुकसान को कम-से-कम करने के लिए सरकार तत्परता से काम कर रही है. उन्होंने जनप्रतिनिधियों से कहा कि उनके क्षेत्र में बाढ़ से सुरक्षा के लिए यदि कोई महत्वपूर्ण सुझाव हो तो उसे मेल या व्हाट्सएप के जरिए भेजें. 

डीएम ने दी प्रबंधों की जानकारी

समीक्षा बैठक के शुरू में जिलाधिकारी श्याम बिहारी मीणा ने कोरोना और बाढ़ से सुरक्षा के लिए जिले में किये गये इंतजामों की विस्तृत जानकारी दी. उन्होंने बताया कि जिले में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार कम हो रहे हैं. मरीजों के लिए ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता है. मधेपुरा मेडिकल कॉलेज में लोगों को बेहतर इलाज सुगमता पूर्वक मिल रहा है. 

उन्होंने आगे कहा कि जिले में होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की नियमित रूप से मॉनीटरिंग की जा रही है. ग्रामीण क्षेत्रों में जांच टीमों को भेजा जा रहा है. टीकाकरण के लिए चलंत वाहन ‘टीका एक्सप्रेस’ को गांवों में भेजने की भी तैयारी चल रही है. बाढ़ प्रभावित इलाकों में ऊंचे स्थानों पर आपदा राहत केंद्र बनाने के लिए स्थान चिह्नित कर लिये गये हैं और वहां चापाकल आदि की व्यवस्था की जा रही है.





Source link

%d bloggers like this: