July 25, 2021

Sirfkhabar

और कुछ नहीं

BBMKU के दीक्षांत समारोह में शामिल हुए CM हेमंत, राज्यपाल, कही ये बड़ी बात


Ranchi: राज्यपाल रमेश बैस (Governor Ramesh Bais) ​और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren)  ने धनबाद स्थित बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय के प्रथम दीक्षांत समारोह में वर्चुअल माध्यम से शामिल होकर छात्र-छात्राओं को शुभकामनाएं और बधाई दी.

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने धनबाद के बेलाटांड़ में विश्वविद्यालय के प्रशासनिक एवं शैक्षणिक भवन का ऑनलाइन उद्घाटन और स्मारिका 2021 का विमोचन किया. 2019-2020 में स्नातक, स्नातकोत्तर एवं प्रतिष्ठा सामान्य एवं व्यवसायिक परीक्षा, एमबीबीएस, विधि में सफल छात्र-छात्राओं को उपाधि प्रदान की गई. 

इस दौरान राज्यपाल रमेश बैस ने कहा, ‘बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय, धनबाद के प्रथम दीक्षांत समारोह के आयोजन पर प्रसन्नता है लेकिन ये प्रसन्नता तब और अधिक होती जब संक्रमण की विषम परिस्थितियां नहीं होती और मैं अपने प्यारे छात्र-छात्राओं के मध्य शामिल हो पाता, उनसे मिल सकता. दीक्षांत समारोह के दिन विद्यार्थियों के चेहरे पर मुस्कान, उनके उमंग एवं उनके उत्साह का क्षण दीक्षांत समारोह की गरिमा को और बढ़ा देता है. 

युवा उच्च शिक्षा ग्रहण करें

राज्यपाल ने कहा, ‘राज्य के विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति के रूप में हमारा प्रयास होगा कि इस राज्य के अधिक-से-अधिक युवा उच्च शिक्षा ग्रहण करें. ज्ञानार्जन में जाति, धर्म, लिंग बाधक नहीं बनना चाहिये. प्रसन्नता का विषय है कि अब लडकियां न केवल उच्च शिक्षा ग्रहण करने के प्रति रूचि रख रही हैं, बल्कि अपनी प्रतिभा से वे उत्कृष्टता भी हासिल कर रही हैं. नारी सशक्तिकरण की दृष्टि से भी यह अहम है. उच्च शिक्षा के विस्तारीकरण हेतु आवश्यकतानुसार नये शिक्षण संस्थान भी स्थापित होने चाहिए. शिक्षा से ही लोगों में जागृति आ सकती है तथा सामाजिक कुरीतियों का पूरी तरह से समाज से अन्त हो सकता है. 

शहीदों के सम्मान में शिक्षण संस्थान

दीक्षांत समारोह में छात्र, छात्राओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि झारखंड राज्य का कोयलांचल सिर्फ कोयला और लोहा के लिए ही नहीं, बल्कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए जाना जाएगा और नई ऊंचाइयों को स्थापित करेगा. आज दीक्षांत समारोह में उपाधि प्राप्त कर रहे सभी छात्र-छात्राओं के उज्ज्वल भविष्य की कामना करता हूं. झारखंड के वीर शहीदों के सम्मान में शिक्षण संस्थान स्थापित किये जा रहें हैं. ऐसे ही झारखंड के उत्थान के लिए समर्पित स्वर्गीय बिनोद बिहारी महतो जी की याद और उनके सम्मान में बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल यूनिवर्सिटी छात्रों को समर्पित किया गया है. 

शिक्षा को लेकर योजनाएं, संक्रमण काल ने रोका
मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड के छात्र-छात्राओं को अच्छी शिक्षा प्रदान करने हेतु योजनाएं हैं. लेकिन संक्रमण के इस कालखंड ने इसे काफी हद तक प्रभावित कर रखा है. संक्रमण की गति धीमे पड़ते ही जीवन को सामान्य बनाकर योजनाओं को गति दी जाएगी. साथ ही, बेहतर शिक्षा की कार्य योजना के लिए सभी यूनिवर्सिटी के कुलपतियों के साथ राज्य सरकार जल्द चर्चा करेगी.

अमीन का कोर्स शुरू करें
मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्व विभाग की समीक्षा के दौरान यह पता चला कि राज्य में अमीन की पढ़ाई नहीं के बराबर कराई जा रही है. इसके बाद इस क्षेत्र में पढ़ाई करने की इच्छा रखने वाले छात्रों को अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से इस कोर्स को शुरू करने का निदेश दिया. बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल यूनिवर्सिटी के कुलपति से आग्रह है. विश्वविद्यालय में अमीन का कोर्स शुरू करें.

ये भी पढ़ें: देशभर की 22 नेशनल Law Universities में दाखिले के लिए कल होगा एंट्रेंस टेस्ट, पटना में 5 जगहों पर बने परीक्षा केंद्र

 

छात्रों की बेहतरी के लिए हो रहें हैं हर सम्भव प्रयास
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के अनुसूचित जनजाति के छात्रों को उच्च शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से मरङ गोमके जयपाल सिंह मुंडा पारदेशीय छात्रवृत्ति योजना शुरू की गई है, जिसमें छात्रों की पढ़ाई का पूरा खर्च सरकार वहन करेगी. वर्तमान में योजना सीमित दायरा में शुरू किया गया है. छात्रों के रुझान के अनुसार इस योजना का दायरा आने वाले समय में बढ़ाया जाएगा. छात्रों के रहने के लिए छात्रावास  बनाए जा रहे हैं. सैकड़ों की संख्या में जो जर्जर छात्रावास हैं, उन्हें पुनर्जीवित किया जा रहा है. करीब 500 ऐसे छात्रावासों को सुसज्जित करने का कार्य प्रारंभ हुआ है.

 





Source link

%d bloggers like this: