माधवराव सिंधिया को लेकर सियासत: कांग्रेस बोली- उधार के सिंदूर से भरी जा रही मांग, बीजेपी ने किया तगड़ा पलटवार


ग्वालियरः कांग्रेस के दिग्गज नेता और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के पिता स्वर्गीय माधवराव सिंधिया की 20वीं पुण्यतिथि पर बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने आ गई. दरअसल, एक तरफ जहां कांग्रेस ने भी माधवराव सिंधिया की पुण्यतिथि मनाई तो दूसरी तरफ बीजेपी ने भी उनकी पुण्यतिथि मनाई. 

दरअसल, ग्वालियर में इस अवसर पर कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही राजनीतिक दलों के नेता और कार्यकर्ताओं ने माधवराव सिंधिया की छतरी पर पहुंचकर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए. इसके अलावा बीजेपी ने उनको श्रद्धा सुमन अर्पित करने के लिए शहर भर में पोस्टर भी लगाए. इसको लेकर बीजेपी और कांग्रेस में जमकर जुबानी जंग हुई. 

कांग्रेस ने साधा निशाना
माधवराव सिंधिया की पुण्यतिथि को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता आरपी सिंह ने आरोप लगाया है कि ”भाजपा का कोई इतिहास नहीं है और ना ही उनके कोई आदर्श पुरुष है. ऐसे में वह कांग्रेस के आदर्शों को चुरा रहे हैं और उधार के सिंदूर से मांग भरने का काम कर रहे हैं. माधवराव सिंधिया हमेशा कांग्रेस के लिए समर्पित रहे हैं.”

बीजेपी का पलटवार 
वहीं कांग्रेस के आरोपों पर बीजेपी के प्रवक्ता आशीष अग्रवाल ने पलटवार किया है, उन्होंने कहा कि ”महापुरुष और विकास पुरुष किसी पार्टी विशेष के नहीं होते हैं. जब भी ग्वालियर-चंबल के विकास की बात चलती है तो उसमें माधवराव सिंधिया का नाम सबसे ऊपर होता है. ऐसे में यदि बीजेपी के कार्यकर्ता उन्हें अपने श्रद्धा सुमन अर्पित कर रहे है तो कांग्रेस को आपत्ति क्यों है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस किन महापुरुषों की बात कर रही है. कांग्रेस ने नकली गांधी खानदान के लिए अपने तमाम महापुरुषों को भुला दिया है.”

ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने के बाद बदला माहौल 
गौरतलब है कि जब तक ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस में थे तब तक केवल कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता ही माधवराव सिंधिया को श्रद्धा सुमन अर्पित करने जाते थे. लेकिन जब से ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस का दामन छोड़कर बीजेपी में आए हैं, तब से बीजेपी भी उनकी पुण्यतिथि और जयंती के श्रद्धांजलि समारोह में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने लगी है. ऐसे में माधवराव सिंधिया को लेकर अब बीजेपी और कांग्रेस के नेता एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे हैं. 

ये भी पढ़ेंः उपचुनावः खेल कर सकता है ‘जयस’, 5 अक्टूबर की बैठक से बढ़ेंगी BJP-कांग्रेस की मुश्किलें!

 

 

WATCH LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.