शराब के नशे में संबंध बना रहे शख्स ने पार की हैवानियत की हद, गर्लफ्रेंड की हुई मौत


लंदन: इंग्लैंड के डार्लिंगटन (Darlington) में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है, जहां एक शख्स ने नशे की हालत में गर्लफ्रेंड से शारीरिक संबंध बनाते समय उसका गला दबा दिया, जिसके बाद महिला की मौत हो गई. इस मामले में टेसाइड क्राउन कोर्ट ने दोषी को पांच साल से कम की सजा दी, जिस पर अटॉर्नी जनरल ने सवाल उठाए हैं और उनके हस्तक्षेप के बाद सजा बढ़ाई जा सकती है.

कोर्ट ने दी 4 साल 8 महीने की सजा

डार्लिंगटन के रहने वाले 32 वर्षीय सैम पायबस (Sam Pybus) को अपनी गर्लफ्रेंड सोफी मॉस (Sophie Moss) की हत्या के मामले में टेसाइड क्राउन कोर्ट ने पिछले महीने चार साल और आठ महीने सजा सुनाई है. पायबस पहले से शादीशुदा है, जबकि 33 साल की सोफी भी दो बच्चों की मां थीं.

अनुचित रूप से उदार फैसला: अटॉर्नी जनरल

अटॉर्नी जनरल ने गर्लफ्रेंड की मौत के मामले में शख्स को मिली जेल की सजा को ‘अनुचित रूप से उदार (Unduly Lenient)’ बताया है और अदालत में अपील की है, जिसके बाद दोषी की सजा को बढ़ाने की चर्चा हो रही है. डेलीमेल की रिपोर्ट के अनुसार, अटॉर्नी जनरल के कार्यालय के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘मैं पुष्टि कर सकता हूं कि अटॉर्नी जनरल ने सैम पायबस की सजा को अपील के लिए फिर से अदालत में भेज दिया है, क्योंकि वह सहमत हैं कि यह अनुचित रूप से उदार फैसला है.

24 बोतल बियर पीने के बाद बना रहा था संबंध

टेसाइड क्राउन कोर्ट (Teesside Crown Court) में सुनवाई के दौरान बताया गया था कि सैम पायबस (Sam Pybus) ने इस साल फरवरी महीने में ब्रिटेन के डार्लिंगटन में 24 बोतल बियर पीने के बाद सोफी मॉस (Sophie Moss) से उसके फ्लैट में शारीरिक संबंध बना रहा था और इस दौरान वह दस सेकंड या यहां तक कि करीब मिनटों तक प्रेमिका के गले पर दबाव डालता रहा था, जिससे उसकी मौत हो गई थी.

ये भी पढ़ें- डिलीवरी में होगा दर्द, इससे परेशान प्रेग्नेंट लेडी ने उठाया खतरनाक कदम; हुई मौत

सैम को याद नहीं घटना वाले दिन क्या हुआ

सैम पायबस ने जांचकर्ताओं को बताया था कि वह बहुत नशे में था और जो कुछ हुआ था उसके बारे में उसे बहुत कम याद था. उसने बताया कि जब वह अगली सुबह उठा तो उसने सोफी को नग्न पाया और वो कोई जवाब नहीं दे रही थी. रिपोर्ट के अनुसार, पाइबस ने मदद के लिए इमरजेंसी नंबर 999 पर कॉल नहीं किया और डार्लिंगटन पुलिस स्टेशन में आत्मसमर्पण करने से पहले 15 मिनट तक अपनी कार में बैठकर सोचता रहा था कि आगे क्या करना है.

पोस्टमॉर्टम में हुई गला दबाने से मौत की पुष्टि

पोस्टमॉर्टम में पुष्टि हुई कि सोफी मॉस की मौत गला घोंटने से हुई है. पैथोलॉजिस्ट ने बताया कि मौत बहुत लंबे समय तक या जबरदस्ती गला घोंटने से हुई, हालांकि सोफी की बॉडी पर किसी अन्य तरह की हिंसा या चोट के निशान नहीं थे.

सजा बढ़ाने पर अदालत करेगी फैसला

अब इस मामले में कोर्ट को तय करना है कि दोषी सैम पायबस (Sam Pybus) सजा बढ़ाई जाए या नहीं. जस्टिस पॉल वॉटसन क्यूसी ने पिछले महीने पायबस को चार साल और आठ महीने जेल की सजा सुनाई थी. इसके बाद वीमेन राइट्स कार्यकर्ता ने भी सजा पर आपत्ति जताई थी और कहा था कि ऐसा लगता है कि एक महिला की गला घोंटकर हत्या करना अभी भी एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना के रूप में देखा जाता है, ना कि भयानक गंभीर हिंसा के रूप में.

लाइव टीवी



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *