CM शिवराज ने PM मोदी को बताया विकास जनकल्याण सुराज का संगम, कहा-तपस्या साधना की होती है जरूरत


भोपालः 17 सितम्बर से शुरु हुए जनकल्याण और सुराज अभियान का 7 अक्टूबर को समापन हो गया. इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नवरात्रि शुभकामनाएं देते हुए सिंगल क्लिक से सात नए पोर्टल और आठ लोक सेवा केंद्रों की शुरूआत की. गृह, सामान्य प्रशासन, नगरीय विकास, योजना एवं सांख्यिकी और ऊर्जा विभाग के नवीन पोर्टल प्रारंभ किए गए. इन पोर्टल से नागरिकों को मिलने वाली जन सुविधाएं बढ़ेंगी और उनके कार्य आसान होंगे. गृह विभाग के पोर्टल पर अब ई एफआईआर हो सकेगी. 

मौन व्रत रहते थे सीएम शिवराज 
देवी की पूजा मतलब नारी का सम्मान. बेटियों में देवी दिखाई देती है, नवरात्रि मनाना है तो बेटियों का सम्मान करने का संकल्प ले. बेटियों की सुरक्षा से लेकर शिक्षा तक की व्यवस्था करना में कोई कसर नहीं छोडूंगा. मुख्यमंत्री शिवराज ने अपने जीवन से जुड़ा एक किस्सा सुनाया. उन्होंने कहा कि जब वह सीएम नहीं थे तो नवरात्रि में 9 दिन तक मौन रहता थे. लेकिन सीएम बनने के बाद यह संभव नहीं है. लेकिन बेटियों को देवियों रुप में पूजना हमारे सबसे बड़ा कर्तव्य है.  

विकास जनकल्याण सुराज के त्रिवेणी संगम है पीएम मोदी
वहीं पीएम मोदी को लेकर सीएम शिवराज ने कहा कि तपस्या साधना की जरुरत होती है. सुखद अनुभव है कि गवर्नेंस हेड के रूप में आज 20 साल पूरे हुए है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 7 अक्टूबर 2001 को गुजरात के सीएम बने थे. लगभग 13 साल गुजरात को विकास मॉडल दिया. फिर गौरवशाली शाली शक्तिशाली भारत के निर्माण में लगे है. सीएम शिवराज ने कहा कि पीएम मोदी विकास जनकल्याण सुराज के त्रिवेणी संगम है. गरीब को, राशन, इलाज, मकान, शौचालय, रसोई गैस, किसानों को लाभ ऐसी कई योजनाएं चलाई है. पहले के प्रधानमंत्री कहते थे 1 रुपये भेजो तो 15 पैसे आते है. लेकिन अब 1 रुपये भेजो तो 1 रुपये ही आता है.

MP में ई-वाउचर व्यवस्था होगी लागू 
इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बड़ी घोषणा की. सीएम ने कहा कि अब प्रदेश में ई-वाउचर व्यवस्था लागू होगी, जिसके तहत आयुष्मान भारत के अंतर्गत मरीजों की उपचार राशि एवं छात्रवृत्ति के भुगतान के लिए “ई-रुपी” के माध्यम से सीधे हितग्राहियों को विशिष्ट प्रयोजन के उद्देश्य से कैश बेनिफिट ट्रांसफर किया जा सकेगा. सीएम चौहान ने कहा कि प्रदेश में 15 नवंबर से 15 जनवरी 2022 तक हितग्राही मूलक योजनाओं का लाभ सभी हितग्राहियों को मिल रहा है या नहीं, इसे अभियान चलाकर सुनिश्चित किया जायेगा. 

सीएम शिवराज ने की यह घोषणाएं

  • नवजात शिशु के माता-पिता को बच्चे के जन्म के समय ही जन्म प्रमाण पत्र के साथ अनुसूचित जाति/जनजाति प्रकरणों में जाति प्रमाण-पत्र भी मिलेगा
  • कुछ विशिष्ट नागरिक सेवाएं जैसे वाहनों का फिटनेस, ड्राईविंग लाइसेंस का नवीनीकरण, वाहन पंजीयन, दस्तावेजों की प्रमाणित नकल, चलित मोबाइल टॉयलेट, सैप्टिक टैंक, सीवेज सफाई और वाटर टैंक के लिए सेवाएं अब निजी सेवा प्रदाताओं के माध्यम से भी प्रदाय की जायेंग. 
  • सभी विभागों में बिलों के समय पर भुगतान के लिए बिल पेमेंट की ऑनलाइन व्यवस्था लागू की जायेगी. 
  • समस्त हितग्राही मूलक योजनाओं के लिए आवेदन से लेकर हितलाभ वितरण या अंशदान देने की पूरी प्रक्रिया को ऑनलाइन किया जायेगा, जिससे योजना में हितग्राही चिन्हांकन तथा लाभ प्रदाय में पारदर्शिता को और बेहतर बनाया जा सके.
  • उच्च शिक्षा विभाग विद्यार्थियों को मिलने वाली सेवाऐं जैसे- काउंसलिंग, एडमिशन, छात्रवृत्ति प्रदाय आदि को एक वर्ष में पूरी तरह से ऑनलाइन होगी. 
  • नागरिक सेवाएं जैसे- आय, निवास प्रमाण-पत्र, खसरा, भू-अभिलेख, छात्रवृत्ति, पेंशन इत्यादि सेवाओं के लिए आवेदन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म यथा व्हॉट्सएप/टेलीग्राम/कू ऐप पर प्राप्त करके नागरिकों को बिना शासकीय कार्यालय आए चेटबोट के माध्यम से संबंधित ऐप पर ही सेवा ऑनलाईन प्रदाय की जाएगी. 
  • समस्त सरकारी भर्तियों में चयनित अभ्यर्थियों के चरित्र सत्यापन के संबंध में वर्तमान प्रचलित प्रक्रिया सरल करते हुए केवल शपथ-पत्र के आधार पर नियुक्ति एवं ज्वाइनिंग दी जायेगी. 
  • मुख्यमंत्री कोविड अनुकंपा नियुक्ति योजना के अंतर्गत नियुक्ति के लिए पात्र जिन हितग्राहियों के लिए विभागों में रिक्‍त पद उपलब्‍ध नहीं है, उनके लिए  अतिरिक्‍त नए पद (सांख्येत्तर पद) का निर्माण कर नियुक्ति आदेश जारी किए जायेंगे. 

ये भी पढ़ेंः बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में MP के 12 नेताओं को मिली जगह, नड्डा की नई टीम में सिंधिया भी शामिल 

WATCH LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.