MNIT का 15वां दीक्षांत समारोह, 2 हजार 506 विद्यार्थियों को प्रदान की गई डिग्री


Jaipur: कोविड प्रोटोकॉल (Covid Protocol) की पालना करते हुए आज एमएनआईटी (MNIT 15th convocation) ने अपने 15वें दीक्षांत समारोह का आयोजन हाईब्रिड मोड में किया. समारोह में 75 स्टूडेंट्स को गोल्ड मेडल (Gold Medal) और तकरीबन 2 हजार 506 स्टूडेंट्स को वचुर्अल रूप से डिग्री प्रदान की गई. 

समारोह के मुख्य अतिथि केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) और विशिष्ट अतिथि के रूप में डीआरडीओ निदेशक जी सतीश रेड्डी वचुर्अल रूप से शामिल हुए, जिन 75 स्टूडेंट्स को गोल्ड मेडल दिए गए उसमें 40 छात्राएं शामिल थीं. इस अवसर पर धर्मेंद्र प्रधान ने स्टूडेंट्स को संबोधित करते हुए कहा कि आज उनके जीवन का नया अध्याय शुरू हो रहा है, वह अपनी नॉलेज और स्किल का उपयोग देश की तरक्की में करें जिससे आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें-RTE Admission: प्राइवेट स्कूल्स में फ्री एज्युकेशन के लिए आवेदन शुरू, जानिए आखिरी तारीख

वहीं डीआरडीओ के निदेशक जी सतीश रेड्डी ने डिग्री पाने वाले विद्यार्थियों को शुभकामना देते हुए कहा कि यह उनके जीवन एक महत्वपूर्ण अध्याय है. एमएनआईटी खुद को इस देश के प्रमुख शैक्षणिक संस्थानों में से एक रूप में प्रतिष्ठित कर रहा है. हम सभी को मिलकर शक्तिशाली भारत का निर्माण की दिशा में काम करना है. उनका कहना था कि डीआरडीओ अपने कार्यक्रमों, डीटीडीएफ और डेयर टू ड्रीम कार्यक्रम के माध्यम से स्टार्टअप और युवा उद्यमियों को प्रोत्साहित कर रहा है और अब शैक्षणिक संस्थानों को नवाचार और उद्यमिता को बढ़ावा देने वाला केंद्र बनना चाहिए.

यह भी पढ़ें-REET Exam Case: बत्तीलाल बोलेगा राज खोलेगा, SOG सभी आरोपियों को करेगी बेनकाब

इससे पूर्व एमएनआईटी के निदेशक प्रो. उदयकुमार आर यारागट्टी ने संस्थान की प्रगति की रिपोर्ट प्रस्तुत की. समारोह का आयोजन कोविड प्रोटोकॉल की पालना करते हुए हाईब्रिड मोड में किया गया था, ऐसे में स्टूडेंट्स अपने घरों से समारोह में ऑनलाइन शामिल हुए जबकि एमएनआईटी स्टाफ परिसर में ऑफलाइन मोड में उनसे जुड़ा. कैम्पस में एकमात्र स्टूडेंट को कन्वोकेशन ऑथ के लिए बुलाया गया था.



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *