कोरोना को मिटाने के लिए आने वाली है गोली, HIV की इस दवा के साथ कारगर


जिनेवा: अमेरिकी फार्मास्युटिकल दिग्गज फाइजर (Pfizer) ने एंटीवायरल कोविड -19 दवा (Antiviral Covid-19 Medication) को गरीब देशों में अधिक सस्ते में उपलब्ध कराने के लिए एक डील की घोषणा की है. हालांकि इस डील से पहले इस दवा को ट्रायल में पास होना होगा और रेगुलेटरी अप्रूवल प्राप्त करना होगा.

गरीब देशों को मिलेगी राहत

जर्मन लैब बायोएनटेक के साथ एंटी कोविड वैक्सीन बनाने वाली फाइजर (Pfizer) ने कहा कि उसने रॉयल्टी के बिना ही जेनेरिक दवा निर्माताओं के साथ अपनी पैक्सलोविड गोली (Paxlovid Pill) के सब-लाइसेंस प्रोडक्शन के लिए एक एग्रीमेंट पर साइन किए हैं. इसलिए ग्लोबल मेडिसिन पेटेंट पूल (एमपीपी) के साथ ये डील दुनिया की लगभग 53 प्रतिशत आबादी को कवर करने वाले 95 निम्न और मध्यम आय वाले देशों में आने वाली दवा को कम कीमत पर उपलब्ध कराया जाएगा. ये दवा एचआईवी दवा रिटोनावीर (Ritonavir) के साथ ली जाएगी.

89 प्रतिशत तक कारगर

फाइजर ने कहा कि ट्रायल के अंतरिम आंकड़ों में पाया गया कि गोली कोविड -19 संक्रमण के चलते अस्पताल में भर्ती होने या डेथ के रिस्क तक पहुंचने से 3 दिन पहले ही ये दवा ले ली जाए तो 89 प्रतिशत तक कारगर हो सकती है. यानी संक्रमण के पहले संकेत या कोविड -19 के संपर्क में आने पर तुरंत ये गोली ली जाए तो गंभीर बीमारी से बचने में मदद कर सकती है, जिससे अस्पताल में भर्ती नहीं होना पड़ेगा और डेथ का रिस्क कम रहेगा. जिनेवा स्थित एमपीपी एक संयुक्त राष्ट्र समर्थित अंतरराष्ट्रीय संगठन है जो निम्न और मध्यम आय वाले देशों के लिए दवाओं के विकास को सुविधाजनक बनाने के लिए काम करता है. 

यह भी पढ़ें: मशहूर टेनिस स्टार ‘गायब’, पूर्व डिप्‍टी PM पर लगाया था यौन शोषण का आरोप

एचआईवी दवा का मिश्रण

एमपीपी के कार्यकारी निदेशक चार्ल्स गोर ने कहा: ‘यह लाइसेंस महत्वपूर्ण है क्योंकि अप्रूवल के बाद ये दवा विशेष रूप से निम्न और मध्यम आय वाले देशों के लिए काफी मददगार होगी और जीवन बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है. ये रिटोनावीर टैबलेट के साथ ली जानी चाहिए. रिटोनावीर टैबलेट का कई वर्षों से लाइसेंस है. 

LIVE TV
 



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *