‘हलाल गुड़’ से बन रहा इस मंदिर का प्रसाद! कोर्ट ने मांगी रिपोर्ट


कोच्चि: सबरीमाला स्थित भगवान अयप्पा मंदिर में ‘अरावणा’ और ‘अप्पम’ प्रसाद तैयार करने में ‘हलाल गुड़’ इस्तेमाल किये जाने की खबरों के बीच केरल हाई कोर्ट में बुधवार को एक याचिका दाखिल कर इसे तत्काल रोकने की अपील की गई है. हाई कोर्ट ने गुरुवार तक स्पेशल कमिश्नर, सबरीमाला से इस मुद्दे पर रिपोर्ट मांगी है.

कैसे बनता है ‘अरावणा’ और ‘अप्पम’ 

याचिकाकर्ता एस जे आर कुमार ने त्रावणकोर देवस्वोम बोर्ड (TDB) और फूड सेफ्टी कमिश्नर, केरल को ये निर्देश देने की अपील की है कि ‘सबरीमाला मंदिर में अशुद्ध हलाल गुड़ से बने ‘अरावणा’ और ‘अप्पम’ का वितरण तत्काल रोका जाए और नेवैद्यम या प्रसाद बनाने के लिए आगे इसका उपयोग नहीं किया जाए.’ अयप्पा मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं को गुड़ और चावल से बना ‘अरावणा’ पायसम और ‘अप्पम’ प्रसाद दिया जाता है.

मंडलम-मकराविलाक्कू यात्रा शुरू

यह विषय महत्वपूर्ण है क्योंकि मंदिर की दो महीने चलने वाली वार्षिक मंडलम-मकराविलाक्कू यात्रा शुरू हो गई है और इस अवधि में हजारों श्रद्धालु यहां आएंगे. याचिका पर सुनवाई के दौरान टीडीबी और केरल के फूड सेफ्टी कमिश्नर ने जस्टिस अनिल के नरेंद्रन और जस्टिस पीजी अजीत कुमार की पीठ को बताया कि ‘उन्नियप्पम’ और ‘अरावणा’ बनाने में इस्तेमाल होने वाले गुड़ की क्वालिटी पम्पा की प्रयोगशाला में परखी जा रही है.

यह भी पढ़ें: दिल्ली के बाद नोएडा में स्कूल बंद, इस वजह से लिया गया फैसला

क्या कहा अधिकारियों ने

टीडीबी और केरल के फूड सेफ्टी कमिश्नर ने अदालत में यह भी कहा कि दोनों मीठी वस्तुओं को श्रद्धालुओं को बांटने से पहले उनकी गुणवत्ता सन्निधानम की प्रयोगशाला में जांची जा रही है. उन्होंने कहा कि टीडीबी के सचिव और केरल के फूड सेफ्टी कमिश्नर, केरल के निर्देश गुरुवार को अदालत में रखे जाएंगे. अदालत ने इन दलीलों के मद्देनजर सुनवाई 18 नवंबर को करना लिस्ट की है.

LIVE TV



BellyDancingCourse Banner

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *